Home / Breaking News / दुर्गम पहाडिय़ों से कंधों के सहारे चमू देवता मंदिर पहुंचाया गया रथ

दुर्गम पहाडिय़ों से कंधों के सहारे चमू देवता मंदिर पहुंचाया गया रथ

देश-विदेश से आये हजारों श्रद्धालुओं ने किए चमू देवता के दर्शन
लोहाघाट। नेपाल सीमा से लगे गुमदेश क्षेत्र का प्रसिद्ध चैतोला मेले के दूसरे दिन चमू देवता की भव्य रथयात्रा निकाली गई। देश-विदेश से पहुंचे हजारों श्रद्धालुओं ने रथयात्रा का दर्शन कर पुण्य लाभ कमाया। सुबह से ही मंदिर परिसर में दूर दराज से श्रद्धालुओं के पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया था। इससे पूर्व रविवार की रात विभिन्न गांवों में देवडांगर उत्सव का आयोजन किया गया।
सोमवार को सुबह से ही गुमदेश क्षेत्र के चमदेवल के चमू देवता के मंदिर में पूजा अर्चना समेत विभिन्न धार्मिक अनुष्ठानों का दौर शुरू हो गया। अपरान्ह 3:25 बजे मड़ गांव से ढोल नगाड़ों के साथ चमू देवता के रथ को दुर्गम पहाडिय़ों के सहारे लाया गया। जिंडी, पुल्ला, पोखरी, जाख मडलक, बसकुनी, गुरैली के जत्थे साथ -साथ चल रहे थे। युवाओं व बुजुर्गों ने पारंपरिक परिधान पगड़ी आदि पहन कर मेले में शिरकत की। सायं 4:10 बजे चमू देवता के रथ को चमू देवता मंदिर प्रांगण में पहुंचाया गया जिसमें युवाओं में एक अजब सा जोश देखने को मिला। देवडांगरों ने चमू देवता के रूप में अवतरित होकर क्षेत्रीय जनता को सुख-शांति का आशीर्वाद दिया। रथ के पीछे चलने वाली महिलाओं ने चमू देवता की वीरगाथा का बखान किया गया। मेले में देश विदेश से पहुंचे हजारों श्रद्धालुओं ने चमू देवता के दर्शन कर पुण्य लाभ कमाया।

About saket aggarwal

Check Also

हल्द्वानी: पूनम हत्याकांड के खुलासे में एसआईटी भी नाकाम

एक माह बाद भी रहस्य के घेरे में मर्डर मिस्ट्री हल्द्वानी। पूनम हत्याकांड के खुलासे …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *