Home / Breaking News / होमगार्ड की मौत बिन्दुखत्ता में शोक

होमगार्ड की मौत बिन्दुखत्ता में शोक

लालकुआं। बिन्दुखत्ता की बसासत में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करने वाले खीम राम के पुत्र एवं पिछले 30 वर्षों से लालकुआं कोतवाली में होमगार्ड के पद पर तैनात रमेश आर्य की हल्द्वानी में ड्यूटी के दौरान हृदय गति रुकने से मौत हो गयी जिसके चलते क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ पड़ी है।
पिछले 30 वर्षों से लालकुआं कोतवाली समेत आसपास के क्षेत्रों में सजग होमगार्ड के रूप में कार्यरत 49 वर्षीय रमेश आर्या की शुक्रवार की सुबह हल्द्वानी के बाल सुधार गृह में ड्यूटी के दौरान हृदय गति रुकने से दर्दनाक मौत हो गई। यह समाचार लालकुआं कोतवाली के माध्यम से रमेश आर्या के तिवारीनगर बिन्दुखत्ता स्थित आवास को दी गई। जिसके बाद उनके घर में कोहराम मच गया। रमेश आर्य के 4 बच्चे हैं और वह सजग होमगार्ड के रूप में लालकुआं कोतवाली में लोकप्रिय थे। पोस्टमार्टम के बाद दोपहर को उनका शव बिन्दुखत्ता लाया गया। तथा यहां से शव यात्रा निकालकर चित्रशिला घाट में उनकी अंत्येष्टि की गयी। रमेश आर्य के निधन पर श्रम मंत्री हरीश चंद्र दुर्गापाल, वरिष्ठ भाजपा नेता नवीन दुम्का, डॉ. मोहन सिंह बिष्ट, भारतीय जनता पार्टी महिला मोर्चा की पूर्व प्रदेश अध्यक्ष मंजू तिवारी, नगर पंचायत अध्यक्ष राम बाबू मिश्रा, पवन चौहान, भुवन पांडे, जीवन कबड्वाल, बलवन्त दानू, देवी दत्त पांडे, हरीश बिसौती सहित कई गणमान्य लोग शामिल थे। विदित रहे कि रमेश आर्य के पिता स्वर्गीय खीम राम का बिन्दुखत्ता की बसासत में महत्वपूर्ण योगदान रहा है।

About saket aggarwal

Check Also

देशभक्ति नारे से गुंजायमान हुआ आसमान

स्वतंत्रता दिवस पर रंगारंग कार्यक्रमों का आयोजन डोईवाला/ब्यूरो। पूरे क्षेत्र में स्वतंत्रता दिवस धूमधाम से …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *