Home / Breaking News / आधार कार्ड नहीं था, चिकित्सालय के गेट पर दिया महिला ने बच्ची को जन्म

आधार कार्ड नहीं था, चिकित्सालय के गेट पर दिया महिला ने बच्ची को जन्म

गुरुग्राम। गुरुग्राम के एक सिविल हॉस्पिटल के इमरजेंसी वार्ड के बाहर एक 25 साल की महिला को खुले में बच्ची को जन्म देना पड़ा। अस्पताल ने आधार कार्ड की कॉपी नहीं होने की वजह से महिला का अल्ट्रासाउंड टेस्ट करने से इनकार कर दिया।
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, मुन्नी नाम की महिला के पास आधार नंबर था, लेकिन हॉस्पिटल ने उससे आधार कार्ड की कॉपी की ही मांग की। मुन्नी के पति बबलू ने आरोप लगाया है कि आधार कार्ड की कॉपी नहीं होने की वजह से डॉक्टर्स ने उसकी पत्नी को एडमिट नहीं किया।
आखिरकार बिना किसी मेडिकल सहायता के मुन्नी ने हॉस्पिटल के बाहर बेटी को जन्म दिया। पति-पत्नी गुडग़ांव के शीतला कॉलोनी में रहते हैं। बबलू दैनिक मजदूर है। उसने हॉस्पिटल को मुन्नी का वोटर आईडी कार्ड दिया था, लेकिन स्टाफ ने आधार की मांग की। कपल का पहले से 2 साल का बेटा है।
रिपोर्ट के मुताबिक, 9 महीने की प्रेग्नेंट महिला करीब दो घंटे तक दर्द में ही हॉस्पिटल के इमरजेंसी गेट पर खड़ी रही। बच्चे के जन्म होने के समय वहां खड़े लोगों ने हॉस्पिटल के खिलाफ आवाज उठाई तब जाकर उसे वार्ड में भर्ती किया गया।

About saket aggarwal

Check Also

पंतनगर:महिलाओं ने मनाया तीज उत्सव

पंतनगर। पंतनगर विवि के तराई भवन में तीज उत्सव के कार्यक्रम को हर्षोल्लास के साथ …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *