Home / Uttatakhand Districts / Almora / अल्मोड़ा: पालिका विलय के मुद्दे पर मदन कौशिक को झेलना पड़ा विरोध

अल्मोड़ा: पालिका विलय के मुद्दे पर मदन कौशिक को झेलना पड़ा विरोध

 

अल्मोड़ा। प्रदेश सरकार द्वारा नगर पालिका विस्तारीकरण की अधिसूचना जारी होने के बाद जहां जिला प्रशासन सभी 13 गांवों के सीमांकन की कसरत में जुट है, वहीं पालिका में शामिल होने जा रहे तमाम गांवों के ग्रामीण अब न्यायालय की शरण में जाने की तैयारी कर रहे हैं। प्रदेश सरकार अपने फैसले को वापस लेने को तैयार नहीं दिख रही, लेकिन विपक्षियों को सरकार की खुलकर आलोचना करने का अवसर मिल गया है। आने वाले दिनों में जिला मुख्यालय में सरकार के फैसले के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन का बड़ा दौर शुरू हो सकता है।
उल्लेखनीय है कि पालिका विस्तार को लेकर सरकार के निर्णय की आज हर तरफ से किरकिरी हो रही है। जिसका एक ट्रेलर गत दिवस शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक को ग्रामीणों के गुस्से का सामना करते हुए देखना पड़ा था। यहां रैलापाली, न्यू इंदिरा कॉलोनी, एनटीडी, दुगालखोला, खगमराकोट आदि के ग्रामीणों ने पालिका विस्तार पर कड़ी आपत्ति जाताते हुए कहा कि प्र्रदेश सरकार अपना फैसला ग्रामीणों पर जबरदस्ती नहीं थोप सकती है। यहां प्रजातंत्र है, कोई हिटलरशाही नहीं। इधर अल्मोड़ा के 13 गांवों को नगर पालिका में शामिल करने की कांग्रेस, उक्रांद और सामावादी पार्टी ने कड़ी निंदा करते हुए सरकार से जनहित में निर्णय को वापस लेने की मांग दोहराई है। वहीं पालिका को फूटी कौड़ी नहीं देने संबंधित शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक के बयान पर कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने कड़े शब्दों में निंदा करते हुए इसे सरकार का जनविरोधी चेहरा करार दिया है। उन्होंने इस फरमान को लुगलगी बताते हुए सरकार से पुर्नविचार करने की अपील की। कहा कि यदि ऐसा नहीं हुआ तो कांग्रेस आम जनता को साथ लेकर उग्र आंदोलन करेगी। नाराजगी जताने वालों में नगर अध्यक्ष कांग्रेस पूरन रौतेला, दीप सिंह डांगी, दीपक मेहता, त्रिलोचन जोशी, हेम तिवारी, पारितोश जोशी, मुकेश नेगी, सचिन आर्या, प्रीति बिश्ट, लता तिवारी, मंजू कांडपाल, नीमा आर्या, गीता मेहरा, राजीव कर्नाटक, रांविन भंडारी, सुनील कर्नाटक, कुंदन सिंह भंडारी, भूपेंद्र सिंह भोज, गुड्डू, हिमांशु महता, रमेश नेगी, सुंदर लटवाल, पंकज कांडपाल, सुंदर बिश्ट, तारू तिवारी, तारा चंद्र जोशी आदि दर्जनों कार्यकर्ता शामिल थे। इधर समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष रमेश सनवाल ने यहां जारी बयान में कहा कि भारतीय जनता पार्टी सरकार प्रदेश का विकास करने में नौ माह के कार्यकाल में पूरी तरह से विफल रही है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि पालिका विस्तार के नाम पर भाजपा गरीब ग्रामीणों पर आर्थिकी का बोझ डालने का ही काम कर रही है। कहा कि विस्तार से आम जनता को कोई खास फायदा होने वाला नहीं है। सरकार को आय के कोई स्रोत नहीं मिल पा रहा हैं तो उसकी नजर गरीब गांव वालों पर है। उन्होंने डिप्टी स्पीकर रघुनाथ सिंह चैहान को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि पालिका विस्तार पर श्री चौहान ने लोगों को भरोसा दिलाया था कि बिना उनकी रायशुमारी के विस्तार नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि भाजपा प्रतिनिधियों द्वारा गांव की गरीब जनता के साथ विस्तार कर छलने का काम करते हुए उन्हें गुमराह किया है। कहा कि इनका जवाब जनता आगामी नगर निकाय चुनाव में जरूर देगी। उन्होंने कहा कि यदि पालिका विस्तार के नाम पर ग्रामीणो का उत्पीडऩ किया गया तो पार्टी के आम-जनता को साथ लेकर आंदोलन करने को मजबूर होगी। वहीं उत्तराखंड क्रांति दल के युवा प्रकोश्ठ के केंद्रीय उपाध्यक्ष गिरीश गोस्वामी ने प्रेस को जारी बयान में कहा कि शासन द्वारा नगर पालिका का जो विस्तारीकरण किया गया है। वह पूर्णरूप से एक राजनीतिक शडय़ंत्र है। उन्होंने कहा कि पालिका विस्तार के नाम पर भाजपा के नेताओं ने आम जनता की सामाजिक एवं आर्थिकी को निशाना बनाया है।

 

 

 

9 जनवरी को बुलाई है ग्राम सभाओं की संयुक्त बैठक

अल्मोड़ा। पालिका विलय के फैसले के विरोध में वृहद आंदोलन और अग्रिम कार्रवाई तय करने के लिए पालिका में शामिल होने जा रहे समस्त 13 गांवों की बैठक 9 जनवरी को पूर्वाहन 11 बजे यहां चैघानपाटा में बुलाई गई है। ग्र्रामीणों की बैठक में ग्राम सभाओं के समस्त प्रतिनिधियों व ग्रामीणों से अनिवार्य रूप से प्रस्तावित बैठक में सम्मलित होने की अपील की गई। बैठक में प्रधान रिंकू आर्या, दुगालखोला प्रधान मीरा देवी, प्रधान खगमराकोट रंजना टम्टा, क्षेत्र पंचायत सदस्य दुगालखोला महेश चंद्र, प्रधान अधरमणी मोहनी जोशी, मेनो जोशी, हर्श कनवाल, अंबी राम, चंदन रावत, महेश चंद्र, केपी जोशी, भूपाल सिंह, पूरन सिंह बिष्ट, बब्लू तिवारी, आनंद सिंह बिष्ट, देवेंद्र गोस्वामी आदि मौजूद थे।

About saket aggarwal

Check Also

टिहरी: प्रशिक्षु आईएएस ने ग्रामीणों से मांगे सुझाव

थत्यूड़ (टिहरी)। मसूरी स्थित लाल बहादुर शास्त्री अकादमी के नौ प्रशिक्षु आईएएस अफसरों के दल …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *