Home / Uttatakhand Districts / Almora / सैकड़ों टैक्सी चालक-मालिक पहुंचे दफ्तर, टंगे दिखे ताले, गैर हाजिर रहीं एआरटीओ

सैकड़ों टैक्सी चालक-मालिक पहुंचे दफ्तर, टंगे दिखे ताले, गैर हाजिर रहीं एआरटीओ

 

अल्मोड़ा। आरटीओ ऑफिस में लंबे समय से चल रही कथित अनियमितताओं व एआरटीओ द्वारा वाहन चालाकों से की जा रही कथित अवैध वसूली के खिलाफ बुधवार को टैक्सी यूनियन के नेतृत्व में सैकड़ों वाहन चालकों ने आरटीओ ऑफिस में जमकर हंगामा काटा। तमाम टैक्सी चालक-मालिक एआरटीओ के घेराव की योजना के साथ आये थे, लेकिन वह मौके पर अनुपस्थित रहीं। जिस पर उनसे यूनियन के नेताओं की फोन पर वार्ता कराई गई। जिसके बाद उनके द्वारा कुछ सकारात्मक आश्वासन दिये जाने पर मामला शांत हुआ।

बुधवार सुबह टैक्सी यूनियन अल्मोड़ा के बैनर तले अल्मोड़ा, रानीखेत व सोमेश्वर से सैकड़ों की तादात में टैक्सी चालक व मालिक यूनियन के अध्यक्ष शैलेंद्र तिलारा व उपाध्यक्ष गणेश बिश्ट के नेतृत्व में आरटीओ कार्यालय पहुंचे। इस बीच मुख्य गेट सहित विभागों में ताला लगा होने, एआरटीओ के अनुपस्थित रहने व भारी पुलिस फोर्स को देख पदाधिकारियों का गुस्सा फूट पड़ा। यूनियन के नेताओं ने कहा कि वह यहां हंगामा करने नहीं, बल्कि अपनी बात रखने आये हैं। जिस पर बामुश्किल ताले खोले गये तथ द्विपक्षीय वार्ता शुरू हुई। मौके की नजाकत देखते हुए और मामले को सुलझाने के लिए परिवहन निरीक्षक विनोद गुज्याल वार्ता के लिए पहुंचे व यूनियन के नेताओं व उनके बीच वार्ता शुरू हुई। यूनियन के नेताओं का कहना था कि टैक्सी चालक व मालिकों को बेवजह लंबे समय से परेशान किया जा रहा है। उनसे अवैध वसूली की जा रही है तथा विभागीय धौंसपट्टी दिखाई जा रही है। वाहन फिटनैस के नाम पर भी धनराशि वसूली जा रही है। टैक्सी चालक धंधा करें या विभाग को खुश करते रहें। इस बीच पदाधिकारियों की एआरटीओ पूजा नयाल से वार्ता भी कराई गई। जिस पर उन्होंने अपनी अनुपस्थिति पर खेद जताते हुए मांगों के संदर्भ में सकारात्मक आश्वासन दिया। जिसके बाद मामला कुछ ठंडा पड़ा और टैक्सी चालकों की भीड़ वापस हुई। इस मौके पर यूनियन के अध्यक्ष शैलेंद्र तिलारा, उपाध्यक्ष गणेश सिंह बिश्ट, कोशाध्यक्ष बालकृश्ण जोशी, अध्यक्ष रानीखेत शंकर ठाकुर, अध्यक्ष सोमेश्वर दिवान सिंह राणा, कुशाल अल्मिया, नीरज पंवार, सलमान खान, कुंदन लटवाल, गोविंद सांगा, किशन राजा, सुभाश भगवान, मोहन कड़कोटी, नंदन, बलदेव, सोनू, राजेंद्र, माईो, ताहिर, रवि, सुनील, अर्जुन, मुन्ना, पूरन, कमल, चंदन, नंदलाल, महेश, देवेंद्र, पप्पू, हरिमोहन सहित सैकड़ों की तादात में टैक्सी चालक व यूनियन के नेतागण मौजूद रहे।

 

 

विभाग को हम दे रहे 10 दिन का समय, नहीं तो उग्र आंदोलन: तिलारा

अल्मोड़ा। टैक्सी यूनियन अल्मोड़ा के अध्यक्ष शैलेंद्र तिलारा ‘शैलूÓ ने यहां जारी बयान में कहा कि टैक्सी यूनियन का यह ऐतिहासिक घेराव कार्यक्रम रहा। उन्होंने कहा कि टैक्सी चालकों को लंबे समय से बेवजह परेशान किया जा रहा है। जिस कारण उनके सब्र का बांध आज टूट गया। उन्होंने कहा कि मौके पर जिस तरह से पुलिस फोर्स बुलाई गई और विभाग ने खुद ताले लगा दिये उससे यूनियन को कश्ट पहुंचा है। उन्होंने चेतावनी दी कि मामला अभी खत्म नहीं हुआ है। अगर 10 दिन के भीतर समस्याओं का समाधान नहीं हुआ तो हजारों टैक्सी चालक आरटीओ कार्यालय में धरने पर बैठ जायेंगे।

About saket aggarwal

Check Also

थत्यूड़: आग से गेहूं की फसल राख

थत्यूड़। जौनपुर विकासखंड में सिलवाड़ पट्टी के परोगी गांव के समीप खेत में आग लगने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *