Home / Uttatakhand Districts / Almora / अल्मोड़ा: सुनील की हत्या की आशंका जताते हुए पुलिस को सौंपी तहरीर

अल्मोड़ा: सुनील की हत्या की आशंका जताते हुए पुलिस को सौंपी तहरीर

अल्मोड़ा। सिकुड़ा निवासी दीवान सिंह ने अपने भतीजे सुनील सिंह की संदिग्धावस्था में हुई मौत को रंजिशन की गई हत्या का संदेह जताते हुए हत्याकांड की निश्पक्ष जांच करने की मांग को लेकर कोतवाली में तहरीर दी है। उन्होंने पुलिस से मृतक सुनील की कॉल डिटेल खंगालकर दोशियों को पकडऩे की गुहार भी लगाई।

गौरतलब है कि शुक्रवार को विश्वनाथ नदी के पास ग्रामीणों को एक युवक का शव क्षत-विक्षत हालत में दिखा। जिसके बाद सूचना पर पहुंची पुलिस ने युवक के शव की शिनाख्त सुनील सिंह पुत्र नंदन सिंह बिश्ट निवासी सिकुड़ा के रूप में की। जिसके बाद पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कर बाद में शव परिजनों को सुपुर्द कर दिया था। रविवार को मृतक सुनील के चाचा दीवान सिंह ने कोतवाली में दी तहरीर में उनके भतीजे की मौत को रंजिशन हत्या करार देते हुए पुलिस से मामले का खुलासा करने की गुहार लगाई है। पुलिस को सांैपे शिकायती पत्र में दीवान सिंह ने कहा कि उनका भतीजा एक माह पहले सिडकुल रूद्रपुर में एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी लिए गया था, लेकिन उसके बाद रहस्यमय परिस्थितियों में अचानक उसका शव 12 जनवरी को विश्वनाथ में क्षत-विक्षत हालातों में मिला। उन्होंने कहा कि स्थानीय व्यवसायों ने करीब डेढ़़ हफ्ते पहले सुनील को धारानौला में देखा था। उन्होंने कहा कि मृतक सुनील की जेब में मिले मोबाईल में सीम कार्ड नहीं था। जिससे साफ जाहिर होता है कि किसी अज्ञात ने उसे वहां मार कर फैंक दिया। उन्होंने सुनील हत्याकांड का खुलासा शीघ्रातिशीध्र करने की गुहार लगाई हैं।

 

 

सुनील सिंह की संदिग्ध मौत की जांच की मांग

अल्मोड़ा। समाजवादी पार्टी ने जनपद में संदिग्ध प्रस्तितियों में मिलने वाले लाशो पर चिंताव्यक्त कर इसे दुखद बताया है। समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष रमेश सनवाल ने विपक्ष भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा सरकार में अपराधी अपराध कर बौखौफ घूम रहे है। हाल ही में विश्वनाथ नदी के पास भौसोड़ा में सिकुड़ा निवासी सुनील सिंह बिश्ट की लाश संदिग्ध हालत में मिलना बेहद दुखद और चिंताजनक है। उन्होंने कहा कि पुलिस प्रशासन अभी तक पिछले तीन घटनाओं की जांच का पर्दाफास करने में असफल हुई है, जबकि लोगों द्वारा संदिग्ध हालत में मिलने वाली लोशों के जांच के लिए धरना-प्रर्दशन कर विरोध भी किया गया। इसके बावजूद पुलिस प्रशासन हर घटना को अत्महत्या से जोड़ अपना पल्ला झाड़ रही है। उन्होंने कहा कि इस मामलों में सरकार बेबस नजर आ रही है। जिलाध्यक्ष रमेश सनवाल ने मांग करी कि सिकुड़ा निवासी सुनील सिंह बिश्ट की मौत की सीबीआई जांच करायें।

About saket aggarwal

Check Also

थत्यूड़: आग से गेहूं की फसल राख

थत्यूड़। जौनपुर विकासखंड में सिलवाड़ पट्टी के परोगी गांव के समीप खेत में आग लगने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *