Home / Uttatakhand Districts / Almora / आंगनबाड़ी केंद्र डुबकिया में मासूम के साथ बेरहमी से मारपीट, आया ने पीट-पीट कर सूजा दिये गाल, चेहरे पर गहरे जख्म

आंगनबाड़ी केंद्र डुबकिया में मासूम के साथ बेरहमी से मारपीट, आया ने पीट-पीट कर सूजा दिये गाल, चेहरे पर गहरे जख्म

अल्मोड़ा। यहां एक आंगनबाड़ी केंद्र में आया के पद पर कार्यरत महिला ने एक ढ़ाई साल की मासूम बालिका को मामूली बात पर बुरी तरह पीट डाला। नन्ही बालिका के साथ की गई इस सिरफिरी महिला की हैवानियत उसके गाल पर मार खाने से बने जख्म दे रहे हैं। घटना के बाद से बालिका बेहद खौफ में है और वह लगातार रो रही है।
जानकारी के अनुसार यहां डुबकिया मोहल्ला निवासी महबूब अहमद की ढ़ाई साल की पुत्री माहिरा नूर यहां आंगनबाड़ी केंद्र डुबकिया में दो माह से पढ़ रही है। गत दिवस रोज की तरह बालिका आंगनबाड़ी केंद्र गयी। अचानक बालिका किसी बात से रोने लगी। यह बात यहां कार्यरत आया हरीकला को इतनी बुरी लगी कि उसने एक के बाद एक झापड़ इस नन्ही बालिका को जड़ने शुरू कर दिये। इस बेरहम आया को बालिका को रोना चिल्लाना भी पिघला नहीं सका और वह लगातार बालिका को तब तक पीटती रही, जब कि वहां कार्यरत अन्य शिक्षिकायें नहीं पहुंच गयीं। शिक्षिकाओं ने किसी तरह बीच-बचाव कर बालिका को इसके चुंगल से छुड़ाया। आरोप है कि इसके बाद भी अपनी गलती पर शर्मिंदा होने की बजाय यह शिक्षिकाओं से ही उलझ पड़ी। घटना से आहत आज बालिका के परिजनों ने मामले की तहरीर थाने में दी। उधर ढ़ाई साल की नन्ही मासूम इस घटना से बहुत खौफ में है और उसने आंगनबाड़ी केंद्र जाने से भी इंकार कर दिया है।

शाम तक थाने में हो गया काम्प्रोमाइज
अल्मोड़ा। इस मामले में आरोपी आया द्वारा माफी मांगे जाने के बाद थाने में दोनों पक्षों की ओर से काम्प्रोमाइज हो गया। आया ने कहा कि उसे अपनी गलती का अहसास है और वह भविष्य में ऐसा कुछ नहीं करेगी। जिस पर बालिका के परिजनों ने केस दर्ज करने से इंकार कर दिया। अलबत्ता यह मामला आज शहर में चर्चा का विषय बना रहा।

About saket aggarwal

Check Also

तीन माह में भी पुलिस के हाथ खाली

किच्छा। 3 माह पूर्व ग्राम छिनकी में पुलिया के नीचे मिले युवक की हत्या का …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *