Home / Uttatakhand Districts / Almora / अल्मोड़ा: हड्डी टूटी कहीं, रॉड डाल दी कहीं

अल्मोड़ा: हड्डी टूटी कहीं, रॉड डाल दी कहीं

 

अल्मोड़ा। यहां बेस अस्पताल में कार्यरत एक चिकित्सक की लापरवाही प्रकाश में आयी है। जहां एक वृद्ध के पांव की हड्डी टूटने पर गलत उपचार कर उसे जीवन भर के लिए अपंग बना दिया गया है। वृद्ध के परिजनों ने व्यापार मंडल पदाधिकारियों के साथ जिलाधिकारी को ज्ञापन देकर चिकित्सक के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की है।


सरकारी चिकित्सा व्यवस्था के खराब प्रबंधन और व्यवस्थाओं की पोल खुलना कोई नई बात नहीं है। स्वास्थ्य महकमे पर करोड़ों रुपया खर्च करने के बावजूद व्यवस्थाएं जस की तस हैं। चिकित्सकों द्वारा लापरवाही करके मरीजों के जीवन के साथ खिलवाड़ करने के अक्सर कई आरोप लगते रहे हैं और सांठ-गांठ व दबाव के बाद यह मामले दबा दिये जाते हैं। हालिया वाक्या यहां नृसिंहबाड़ी मोहल्ला निवासी शब्बीर अहमद के साथ घटा है। गत जुलाई माह में हुई एक कार दुर्घटना के बाद वह बेस अस्पताल में भर्ती किये गये थे और 23 अगस्त को अस्पताल से डिस्चार्ज किये गये। इस दौरान इलाज में उनका करीब डेढ़ लाख रुपया खर्च हो गया। परिजनों का आरोप है कि हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. पीके मेहता ने उनका गलत उपचार किया और जल्द स्वास्थ्य में सुधार का आश्वासन देते रहे। जब लंबे समय तक कोई सुधार नहीं हुआ तो वह 18 फरवरी 2018 को हल्द्वानी गये, जहां एक्स-रे जांच में पता चला कि उनकी टूटी हड्डी जुड़ी ही नहीं है और कभी जुड़ ही नहीं पायेगी, क्योंकि डाक्टर ने रॉड जहां हड्डी टूटी थी, वहां न डालकर अन्यत्र डाल दी। शब्बीर अहमद के पुत्र अमजद अहमद का आरोप है कि चिकित्सक की इस घोर लापरवाही के चलते उनके पिता जीवन भर के लिए अपंग हो गये हैं। ज्ञापन में उन्होंने उक्त चिकित्सक डॉ.मेहता के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई करने तथा उनसे इलाज का पूरा हर्जा-खर्चा दिलवाने की मांग की है।
ज्ञापन देने वालों में जिला व्यापार मंडल अध्यक्ष हरेंद्र वर्मा, नगर अध्यक्ष भैरव गोस्वामी, मनोज बिष्ट, विजय भट्ट, दीपेश चंद्र जोशी, अजीत सिंह कार्की, सुशील साह, अख्तर हुसैन, अमित वर्मा, पंकज वर्मा, मनीष जोशी, गिरीराज साह, भुवन वर्मा, हर्ष कनवाल, पूरन वर्मा, मुजमिल वेग आदि शामिल थे।

About saket aggarwal

Check Also

हल्द्वानी: ओवरहैड टैंक निर्माण को वित्त मंत्री से मिले

पार्षद के नेतृत्व में मिले लोगों ने केदारपुरम डी क्लास व खन्ना फार्म में पेयजलापूर्ति …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *