Home / Uttatakhand Districts / Almora / विधायक पुत्र से हुआ जमीनी विवाद धरने में तब्दील

विधायक पुत्र से हुआ जमीनी विवाद धरने में तब्दील

 

अल्मोड़ा। गत दिवस डिप्टी स्पीकर व विधायक रघुनाथ सिंह चौहान के पुत्र पर अपनी जमीन कब्जाने का आरोप लगाने वाले बची सिंह अधिकारी गुरुवार को अपने दो बेटों के साथ कलक्ट्रेट परिसर में धरने पर बैठ गये। प्रशासन के तमाम आला अधिकारियों ने उन्हें बहुत समझाया पर वह नहीं माने और विधायक पुत्र के निर्माण कार्य रोक देने के लिखित आश्वासन की मांग पर अड़े रहे। गौरतलब है कि बुधवार को डिप्टी स्पीकर व अल्मोड़ा विधायक रघुनाथ सिंह चौहान के पड़ोसी ने डीएम से विधायक पुत्र पर उनकी नाप भूमि कब्जाने का आरोप लगाया था। इस क्रम में गुरुवार को यहां तल्ला चीनाखान निवासी सेवानिवृत्त वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी बची सिंह अधिकारी अपने दोनों पुत्रों नंदकिशोर और गोपाल कृष्ण अधिकारी के साथ कलक्ट्रेट में डिप्टी स्पीकर के पुत्र पर उनकी जमीन कब्जाने का आरोप लगाते हुए धरने पर बैठ गये। इस हाई प्रोफाइल ड्रामे को खत्म करने को अपर जिलाधिकारी केएस टोलिया, तहसीलदार खुशबू आर्या, नायब तहसीलदार प्रयाग दत्त सनवाल व पटवारी गोपाल सिंह बिष्ट मौके पर पहुंचे, लेकिन कई घंटे की मेहनत के बावजूद वह धरना देने पर अड़े पिता-पुत्रों को कुछ समझा नहीं सके। इधर इस मौके पर बची सिंह ने डीएम को एक ज्ञापन भी सौंपा। जिसमें कहा गया है कि विधायक रघुनाथ सिंह चौहान के पुत्र विनोद उर्फ गुड्डू चौहान द्वारा भूमि पर जबरन कब्जा कर उन्हें डराया धमकाया जा रहा है। उन्होंने ज्ञापन में कहा कि उनके द्वारा पुलिस चौकी धारानौला में मामले की शिकायत भी की गई थी परंतु इस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है। जिसके परिणाम स्वरूप उन्हें मजबूरन अपने हक-हकूकों की रक्षा के लिए कलक्ट्रेट परिसर में धरना-प्रदर्शन का निर्णय लेना पड़ रहा है। हालांकि, एडीएम ने विवादित भूमि में निर्माण कार्य रोके जाने का आश्वासन देते हुए प्रदर्शनकारियों को धरना स्थगित करने को कहा लेकिन धरने पर बैठे प्रदर्शनकारियों ने निर्माण कार्य रोकने का लिखित आश्वासन देने पर ही धरना स्थगित करने की बात कही।

 

पिता की छवि धूमिल करने का प्रयास : विनोद
अल्मोड़ा। विधानसभा उपाध्यक्ष के पुत्र पर डराने-धमकाने व जमीन पर कब्जा करने आरोप में गुरुवार को एक नया मोड़ आ गया है। विधायक पुत्र विनोद सिंह चौहान ने अपने पड़ोसी बची सिंह अधिकारी के सारे आरोपों को निराधार व अपने विधायक पिता रघुनाथ सिंह चौहान को बदनाम करने की साजिश करार दिया।
विधायक पुत्र ने यहां जारी बयान में कहा कि उन्होंने बची सिंह अधिकारी की निजी भूमि पर न तो कब्जा किया है न ही उनके द्वारा किसी किस्म की गाली-गलौंज की गई है। उन्होंने आरोप लगाया कि बची सिंह अधिकारी मीडिया के माध्यम से उनके पिता की छवि खराब कर रहे हैं। वास्तविकता तो यह है कि बची सिंह अधिकारी व उनके पुत्रों नंदकिशोर व गोपालकृष्ण द्वारा उल्टा हर सिंह अधिकारी नामक व्यक्ति की 8 मु_ी भूमि को कब्जाने का प्रयास कर रहे हैं। जिस पर हर सिंह ने गत 5 जनवरी को एक प्रार्थना पत्र परगनाधिकारी अल्मोड़ा को दिया था। जिसके बाद राजस्व कर्मचारी मौके पर पहुंचे थे और नापजोख में पाया था कि उनके पिता पर आरोप लगाने वाले बची सिंह अधिकारी के पुत्र द्वारा अपनी क्रयशुदा एक नाली से अधिक जमीन पर कब्जा किया गया है। इसके बावजूद बची सिंह अधिकारी उनके पिता के खिलाफ अनर्गल आरोप लगा उन्हें बदनाम कर रहे हैं। जबकि उनका हर सिंह व बची सिंह की भूमि से कहीं से भी कोई सरोकार नहीं है।

 

पिता-पुत्र हड़पना चाहते हैं भूमि
अल्मोड़ा। भूमि कब्जा प्रकरण के विवाद के बीच एक व्यक्ति हर सिंह अधिकारी ने जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपकर विधायक पुत्र पर आरोप लगाने वाले को कटघरे में खड़ा किया है। आरोप लगाया है कि बची सिंह अधिकारी के पुत्रों ने ही उनके साथ गाली-गलौंज की और उनकी जमीन कब्जाने का प्रयास कर रहे हैं। जबकि इस प्रकरण में विधायक चौहान की छवि को राजनैतिक कारणों से धूमिल किया जा रहा है।
ज्ञापन में कहा गया है कि उन्होंने गत 13 नवंबर 2002 को 8 मु_ी जमीन उम्मेद सिंह निवासी ढौरा से खरीदी थी। उनके पड़ोसी नंदकिशोर व गोपालकृष्ण पुत्र बची सिंह अधिकारी उनकी जमीन पर जबरन कब्जा करने की कोशिश कर रहे हैं। जिस पर उनके द्वारा गत 5 जनवरी को प्रार्थना पत्र दिया गया था। उन्होंने बताया कि गत 10 जनवरी की रात उपरोक्त व्यक्तियों द्वारा उनकी क्रयशुदा जमीन को कब्जाने के लिए पक्का स्लैब डाल दिया गया। जब अगले रोज 11 जनवरी को उन्होंने नंदकिशोर व गोपालकृष्ण से बात की तो उन्होंने उसे जान से मारने की धमकी व भद्दी गालियां दीं। कहा बची सिंह अधिकारी व उसके दो पुत्र उनकी जमीन को हड़पना चाहते हैं। इस मामले को अखबार में उठाकर दबाव कायम कर रहे हैं और विधानसभा उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह चौहान व उनके पुत्र विनोद सिंह चौहान को जबरन बदनाम किया जा रहा है। यह सारा प्रकरण उनकी भूमि से संबंधित है। उन्होंने इस मामले की जांच की मांग की है।

 
यह है पूरा मामला
अल्मोड़ा। गत दिवस बची सिंह अधिकारी नामक व्यक्ति ने जिस जमीन को कब्जाने का आरोप विधायक पुत्र पर लगाया था। उस मामले में जमीन के एक हिस्सेदार ने सार्वजनिक किया है कि उसकी 8 मु_ी जमीन पर यह पिता व उसके दो पुत्र ही कब्जे का प्रयास कर रहे हैं तथा उन्होंने उनके साथ अभद्रता की है। इस मामले में विधायक रघुनाथ सिंह चौहान या उनके पुत्र का कहीं से कुछ लेना-देना नहीं है।

About saket aggarwal

Check Also

महिला का जेवरात से भरा बैग लेकर रिक्शा चालक फरार

हल्द्वानी। रिक्शा चालकों का आतंक सवारियों के सिर पर चढक़र बोल रहा है। आये दिन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *