Home / Uttatakhand Districts / Bageshwar / बागेश्वर: डीएम ने किया प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का निरीक्षण

बागेश्वर: डीएम ने किया प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का निरीक्षण

अस्पताल स्टाफ को दिए आवश्यक दिशा-निर्देश
बागेश्वर। जिलाधिकारी ने बुधवार को घिंघारतोला प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र व एएनएम सेंटर का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने ओपीडी पंजिका का अवलोकन करने पर पाया कि सुबह से 3 मरीजों का परीक्षण किया गया है। दवा केन्द्र का निरीक्षण करने पर फार्मेसिस्ट ने बताया कि स्वास्थ्य केन्द्र में सभी आवश्यक दवाइयां उपलब्ध हैं। उन्होंने दवाइयों को भी चैक किया जो सही पाई गई। उपस्थिति पंजिका का अवलोकन करने पर स्वास्थ्य केन्द्र में दो महिला चिकित्सक एक फार्मेसिस्ट एक वार्डब्वाय तथा एक सफाई कर्मी स्वास्थ्य केन्द्र में कार्यरत हैं सभी उपस्थित पाये गये। चिकित्सकों ने बताया कि स्वास्थ्य केन्द्र में पानी का कनेक्शन न होने के कारण पेयजल की काफी समस्या है जिस पर नाराजगी व्यक्त करते हुए उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी को पानी के कनेक्शन हेतु त्वरित कार्रवाई के निर्देश दिये। चिकित्सक आवास का निरीक्षण करते हुए देखा गया कि आवास जीर्ण क्षीर्ण अवस्था में हैं जिन्हें ध्वस्तीकरण के लिए मुख्य चिकित्साधिकारी को पत्र जारी करने को कहा। स्वास्थ्य केन्द्र में स्थापित आयुर्वेदिक चिकित्सालय का निरीक्षण करने पर पाया कि केन्द्र में एक महिला फार्मेसिस्ट तैनात है। इसके पश्चात जिलाधिकारी ने एएनएम सेंटर का औचक निरीक्षण किया। सेंटर में कार्यरत एएनएम से गर्भवती महिलाओं के टीकाकरण की जानकारी ली और सेन्टर में पंजीकृत 12 गर्भवती महिलाओं की पंजिका का अवलोकन करते हुए एएनएम को समय पर टीकाकरण के निर्देश दिये। उन्होंने पंजीकृत सभी गर्भवती महिलाओं का प्रसव स्वास्थ्य केन्द्र में कराने के निर्देश दिये। हाईरिस्क महिलाओं के सम्बन्ध में बताया गया कि 19 महिलाएं हाईरिस्क में हैं। उन्होंने हाईरिस्क महिलाओं के स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान देने के निर्देश एएनएम को दिये। उन्होंने समय से गर्भवती महिलाओं व बच्चों के टीकारण के निर्देश दिये। निरीक्षण के दौरान उपजिलाधिकारी काण्डा रिंकू बिष्ट सहित स्वास्थ्य केन्द्र के चिकित्सक मौजूद थे। डीएम ने इसके अलावा काण्डा के अन्तर्गत प्राथमिक विद्यालय बुडघूना, आंगनबाड़ी केन्द्र बुडघूना, प्राथमिक विद्यालय घिघारतोला, आंगनबाडी केन्द्र घिंघारतोला का भी औचक निरीक्षण किया। प्राथमिक विद्यालय बुडघूना के निरीक्षण के दौरान उन्होंने कक्षा कक्षों में जाकर बच्चों से अंग्रेजी तथा गणित के प्रश्न पूछे व लिखने को कहा बच्चों द्वारा प्रश्नों का सही उत्तर न दिये जाने पर उन्होंने नाराजगी व्यक्त करते हुए अध्यापिका को कड़ी फटकार लगाई। उन्होंने कहा कि पढ़ाई के साथ-साथ बच्चों की साफ-सफाई और स्वास्थ्य पर भी ध्यान दें। अभिभावकों की बैठक बुलाकर कमजोर बच्चे के अभिभावक को भी बच्चे की पढ़ाई में ध्यान देने को कहें। उपस्थिति पंजिका का अवलोकन करने पर विद्यालय में अध्ययनरत 22 बच्चों में से 16 बच्चे उपस्थित पाये गये। जिलाधिकारी ने किचन में जाकर मध्यान्ह भोजन की गुणवत्ता का भी निरीक्षण किया। इसके बाद उन्होंने आंगनबाड़ी केन्द्र का निरीक्षण किया। जहां आंगनबाड़ी कार्यकत्र्री बिना पूर्व अनुमति के अवकाश पर चल रही हंै जिस पर उन्होंने आंगनबाड़ी सुपरवाईजर को जांच के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने भ्रमण के दौरान प्राथमिक विद्यालय घिघारतोला का औचक निरीक्षण किया।

About saket aggarwal

Check Also

टीएचडीसी इंडिया ने चिकित्सीय सेवाओं में दी मदद

सीएमडी डीवी सिंह ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किए वाहन वीपीएचइपी के लिए सभी सुविधाओं …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *