Home / Uttatakhand Districts / Bageshwar / बागेश्वर: प्रीतिभोज बन गया जहर, दो बच्चों की मौत

बागेश्वर: प्रीतिभोज बन गया जहर, दो बच्चों की मौत

हल्द्वानी / बागेश्वर। बागेश्वर जिले के विकासखंड कपकोट के बास्ती गांव में एक विवाह समारोह की दावत में हुई फूड प्वाइजनिंग से अब तक दो बच्चों की मौत हो चुकी है। जबकि हल्द्वानी के एसटीएच चिकित्सालय में छह मरीज अभी भी आईसीयू में भर्ती हैं। उधर प्रदेश सरकार ने कपकोट तथा बेरीनाग से दो हेलीकाप्टरों के माध्यम से पीडि़तों को बड़े चिकित्सालयों में ले जाने की व्यवस्था की है। इनमें से एक हेलीकाप्टर दिल्ली से मंगाया गया है जबकि दूसरा प्रदेश सरकार का है।
कपकोट विधानसभा क्षेत्र के बास्ती गांव में एक बरात में फूड प्वाइजनिंग से तीन सौ के लगभग घराती और बराती बीमार पड़ गए हैं। क्षेत्र के पूर्व विधायक ललित फस्र्वाण और जिला पंचायत अध्यक्ष के गनर भी इसकी चपेट में आ गए। गुरुवार को कपकोट ब्लॉक के गडेरा गांव से एक बरात बास्ती गांव के मोहन सिंह के घर गई थी। यह शादी एक दिवसीय थी। बरात देर से पहुंचने के चलते घरातियों (वधू पक्ष के लोग) ने पहले ही भोजन कर लिया। बाद में बरातियों ने भी खाना खाया और बरात वापस भी लौट गई। देर शाम बरातियों तथा घरातियों की तबियत एकाएक बिगडऩे लगी।
इस बीच बागेश्वर कापकोट और बेरीनाग के सरकारी चिकित्सालय मरीजों से भरे पड़े हैं। यहां से कुछ पीडि़तों को हल्द्वानी के एसटीएच चिकिसालय में रेफर किया गया। ऐसी ही एक पांच साल की बच्ची कांडा निवासी मीनाक्षी ने चिकित्सालय पहुंचने से पहले ही दम तोड़ दिया। उधर बेरीनाग में भी सात वर्षीय पियूष मेहरा पुत्र देव सिंह मेहरा ने भी रात के समय दम तोड़ दिया। एसटीएच में अभी छह और गंभीर पीडि़तों को भर्ती कराया गया। जिन्हें आईसीयू में भर्ती कराया गया है। इनमें दो बच्चों की हालत गंभीर बताई जा रही है।
अधिकांश लोग पेट दर्द के साथ उल्टी दस्त करने लगे। बरातियों का गांव रोड के करीब होने से उन्हें जल्दी इलाज मिल गया, जबकि घराती रात भर परेशान रहे। शुक्रवार की सुबह ग्राम प्रधान दीपा महरा ने इसकी सूचना सीएमओ को दी। डॉक्टरों की टीम गांवों ने दोनों गांवों में डेरा डाल रखा है।
घटना के पीडि़तों को जिला अस्पताल बागेश्वर, बेरीनाग और कांडा अस्पतालों का रुख किया। गडेरा गांव में डा. दिवाकर और बास्ती गांव में डॉ. बृजेश रावत की टीम पहुंच गई है। डॉक्टरों ने इलाज शुरू कर दिया है। जिला अस्पताल में पूर्व विधायक ललित फस्र्वाण और जिला पंचायत अध्यक्ष हरीश ऐठानी के गनर नरेंद्र सिंह भर्ती हैं। वह भी बारात में शामिल होने गए थे और भोजन भी किया था। इसके अलावा कांडा और बेरीनाग अस्पताल में दर्जन से अधिक महिला, पुरुष और बच्चे भर्ती हैं। दुल्हन का परिवार और दूल्हे का परिवार भी फूड प्वाइजनिंग के शिकार हुआ है। एसडीएम कपकोट नरेंद्र भंडारी भी प्रभावित क्षेत्र में डेरा डाले हुए हैंं। उन्होंने बताया कि डॉक्टरों की टीम स्वास्थ्य लाभ तक गांव में डटी रहेगी।
इधर सरकार ने दो हेलीकाप्टरों को बागेश्वर के पीडि़तों को चिकित्सालय पहुंचाने के लिए रवाना किया है।

About saket aggarwal

Check Also

सूर्यधार बांध डिजाइन को आईआईटी कानपुर ने दी स्वीकृति

26 करोड़ की लागत से बनेगा बांध, अगले हफ्ते से कार्य शुरू सीएम कोठियाल डोईवाला। …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *