Home / Breaking News / हल्द्वानी: बरसाती नाले का तांडव, सिंंचाई नहर तोड़ी, फसल की बर्बाद

हल्द्वानी: बरसाती नाले का तांडव, सिंंचाई नहर तोड़ी, फसल की बर्बाद

मौके पर पहुंची विभाग की टीम

नहर की मरम्मत हुई शुरू

हल्द्वानी।  दमुवाढूंगा-बिठोरिया क्षेत्र में बहने वाले बरसाती नाले ने बीते दिवस तांडव मचा दिया। बारिश के दौरान नाले में उफान आया और उसका पानी और मलबा सिंचाई नहर को तोड़कर बिठोरिया के खेतों में घुस गया। इसके साथ ही नहर का पानी भी खेतों की ओर बहने लगा। यहां उसने कई बीघा फसल को बर्बाद किया और कई घरों के अंदर घुसे पानी ने दीवारों को तोड़ दिया। मौके पर सिंचाई विभाग की टीम ने पहुंचकर मरम्मत कार्य शुरू कर दिया है।


शनिवार को दोपहर बाद हुई तेज बारिश के चलते दमुवाढूंगा से बहने वाले बरसाती नाले में उफान आ गया। यह नाल यहां गौला सिंचाई कालोनी के समीप से निकलता है और दमुवाढूंगा में वन चौकी के समीप से होते हुये बिठोरिया क्षेत्र में बहने वाली सिंचाई नहर में जाकर समाप्त हो जाता है। इस नाले का बहाव यहां के लोगों के लिये हमेशा ही चिंता का सबब रहा है। बीते दिवस नाले में उफान काफी तेज हो गया और पानी तथा मलबे के बहाव ने सिंचाई नहर की सुरक्षा दीवार को तोड़ दिया। जबकि यहां सिंचाई विभाग ने दो सुरक्षा दीवार बनायी है। इसके बाद पानी और मलबे ने तांडव मचाते हुये रघुवर दत्त सिराड़ी के खेतों में खड़ी फसल को नुकसान पहुंचाना शुरू कर दिया। पानी का बहाव यहीं नहीं रूका बल्कि यह बिठोरिया के घरों में घुस गया। और लोगों के घरो को तक नुकसान पहुंचा दिया। सिंचाई नहर टूटने की वजह से नहर के पानी का बहाव भी खेतों की ओर होने लगा। बाद में जब स्थानीय लोगों ने इसकी सूचना सिंचाई विभाग को दी तो विभाग की ओर से सिंचाई नहर के पानी के बहाव को रोक दिया लेकिन तब तक यहां खेतों में खड़ी फसल को काफी नुकसान पहुंच चुका था। इधर आज सुबह मौके पर सिंचाई विभाग की टीम पहुंची है और जेसीबी की मदद से मलबे को हटाया जा रहा है तथा नहर की मरम्मत करने का काम शुरू कर दिया गया है।
बारिश के दिनों में दहशत में जीना पड़ता है
हल्द्वानी। रघुवर दत्त सिराड़ी ने बताया कि उनके खेतों में फसल को काफी नुकसान पहुंचा है और वह सरकार से मुआवजे की मांग करेंगे। बताया कि बारिश के दिनों में उन्हें दहशत में रहना पड़ता है क्योंकि नाले का बहाव सिंचाई नहर में डाल दिया गया है और नहर के समीप ही उनके खेत व घर हैं। पहले भी नाले का बहाव नहर की दीवार तोड़ चुका है। इससे पहले नाले का बहाव जंगल की ओर था लेकिन अब इसका बहाव आबादी वाले इलाके में करने से आपदा आ रही है। इसी तरह स्थानीय निवसी देवेन्द्र ढौंडीयाल का कहना है कि सरकार को इस नाले के बहाव की गलत दिशा का निस्तारण करना चाहिये। समस्या बड़ी होती जा रही है।

 

नहर की मरम्मत का काम शुरू कर दिया गया है। सिंचाई नहर के बहाव को भी रोक दिया गया है। नुकसान का आकलन किया जा रहा है। दैवीय आपदा में इसका प्रस्ताव भेजा जायेगा। – मनोज तिवारी, अवर अभियंता, सिंचाई विभाग

 

 

 

 

About saket aggarwal

Check Also

हल्द्वानी: चोरों ने एक दिन में चार बाइकें उड़ाई

  हल्द्वानी। वाहन चोरों ने एक दिन में अलग-अलग स्थानों से चार बाइकों पर हाथ …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *