Breaking News
Home / Uttatakhand Districts / Dehradun / कम्युनिस्ट पार्टी के दफ्तर पर भाजपा का हल्ला बोल

कम्युनिस्ट पार्टी के दफ्तर पर भाजपा का हल्ला बोल

प्रदर्शन के दौरान पथराव से चार पार्टी कार्यकर्ता चोटिल
केरल मामले में प्रदर्शन को उमड़े थे भाजपाई
देहरादून। राजधानी देहरादून में भाजपा कार्यकर्ताओं ने पुराने बस अड्डा स्थित कम्युनिस्ट पार्टी के दफ्तर पर हल्ला बोला। केरल में भाजपा और आरएसएस कार्यकर्ताओं पर हो रहे हमलों के विरोध में आयोजित रैली और प्रदर्शन के दौरान कुछ भाजपा कार्यकर्ता तैश आकर लोकतांत्रिक गरिमाओं को भुला डाला और पथराव और डंडिया फेंककर अपना गुस्सा उतारने लगे। इस दौरान माकपा के चार कार्यकर्ता को लहूलुहान हो गए। हैरानी की बात यह है कि भाजपा के कई विधायक इस प्रदर्शन में शामिल थे। उनकी मौजूदगी में भाजपा कार्यकर्ता बेकाबू हो गए। तनावपूर्ण स्थिति को भांपकर पुलिस ने लाठियां फटकार कर जैसे-तैसे स्थिति को संभाला।
बुधवार को देहरादून में भाजपा कार्यकर्ताओं ने केरल में हो रही हिंसा के खिलाफ देशव्यापी कार्यक्रम के तहत शहर में विरोध रैली निकाली और कम्युनिस्ट पार्टी दफ्तर के बाहर प्रदर्शन किया। दोपहर परेड मैदान स्थित भाजपा महानगर कार्यालय से भाजपा कार्यकर्ताओं ने रैली निकाली। रैली दर्शन लाल चौक, घंटाघर, क्वालिटी चौक से होते हुए लोकल बस स्टैंड स्थित सीपीएम और सीपीआइ के कार्यालय के समक्ष पहुंची। भाजपा कार्यालय से जुलूस निकालते हुए भाजपा कार्यकर्ता पुराना बस अड्डे स्थित माक्सवादी कम्युनिष्ट पार्टी (सीपीआईएम) के दफ्तर पहुंचे। यहां बाहर प्रदर्शन के बीच कुछ कार्यकर्ता दफ्तर की ओर आक्रामक अंदाज में बढ़े। बचाव में कुछ कम्युनिस्ट कार्यकर्ता भी आगे आ गए। ऐसे में दोनों पक्ष आपस में भिड़ गए। भाजपा कार्यकर्ता वामदलों के कार्यालय के आगे लगी रैलिंग से आगे बढऩे का प्रयास कर रहे थे, वहीं वामपंथी उन्हें रैलिंग की दूसरी ओर से उन्हें पीछे धकेल रहे थे। रैली में भाजपा विधायक विधायक हरबंश कपूर, मुन्ना चौहान, भाजपा के प्रदेश महामंत्री नरेश बंसल, महानगर अध्यक्ष उमेश अग्रवाल, महामंत्री आदित्य चौहान, प्रदेश मंत्री सुनील उनियाल गामा आदि मौजूद थे। इसी बीच किसी ने पत्थर उछाल दिया जो कि वामपंथी नेता शेर सिंह पर लगा, जिससे से वह घायल हो गए। वामपंथियों ने भाजपाइयों पर कार्यालय में घुसकर तोडफ़ोड़ का आरोप लगाया। जब बिगडऩे लगी तो पुलिस ने भाजपाइयों पर लाठियां भी फटकारी। प्रदर्शन के दौरान छुटपुट पथराव भी हुआ और लाठियां भी चलीं। इसमें कम्युनिस्ट कार्यकर्ता शेर सिंह राणा सहित तीन अन्य कार्यकर्ता लहूलुहान हो गए। उन्हें मौके पर ही उपचार दिया गया। पुलिस ने जैसे-तैसे भाजपा कार्यकर्ताओं को वहां से खदेड़ा। इस पर, बीजेपी कार्यकर्ता पुराना बस अड्डा परिसर में धरने पर बैठ गए। दूसरी ओर, कम्युनिस्ट कार्यकर्ताओं ने भी भाजपा के खिलाफ प्रदर्शन किया। कुछ देर प्रदर्शन के बाद भाजपा कार्यकर्ता चले गए।
इस मौके पर वामपंथी नेता नेता कमरुद्दीन और शिव प्रसाद देवली ने भाजपा सरकार पर गुंडागर्दी का आरोप लगाया। कहा कि जनता के मुद्दों पर आंदोलन करते हैं तो कनक चौक पर रोक लिया जाता है, लेकिन सोची समझी रणनीति के तहत भाजपाइयों को उनके कार्यालय तक आने दिया गया। इससे साफ है कि पुलिस-प्रशासन भाजपा सरकार के एजेंट के रूप में काम कर रहा है।

About madan lakhera

Check Also

सहयोग समूह को मिला पहला पुरस्कार

परेड मैदान में हिमान्या सरस मेले का समापन देहरादून। ग्राम्य विभाग, उत्तराखंड के हिमान्या सरस …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *