Home / Breaking News / संदिग्ध परिस्थितियों में भाजपा नेता के पुत्र की मौत

संदिग्ध परिस्थितियों में भाजपा नेता के पुत्र की मौत

यूपी की सीमा क्षेत्र रेलवे ट्रैक के किनारे मिला शव

बिलासपुर पुलिस ने शव भेजा पोस्टमार्टम को

परिवार में मचा कोहराम,जेब मिले आधार कार्ड से हुई थी शिनाख्त

रुद्रपुर। संदिग्ध परिस्थितियों में भाजपा नेता के पुत्र की मौत हो गई। उसका शव यूपी की सीमा पर स्थित बतरा कॉलोनी के पीछे रेलवे ट्रैक के किनारे पड़ा मिला। घटना की सूचना बिलासपुर कोतवाली को मिली। सीओ बिलासपुर और प्रभारी निरीक्षक ने घटनास्थल का निरीक्षण किया और शव को पोस्टमार्टम को भेजा है। मृतक की शिनाख्त भी जेब में मिले आधार कार्ड से हुई थी। सूचना पर परिजन भी पहुंच गये। जानकारी के मुताबिक मध्य रात्रि रेलवे स्टेशन मास्टर रुद्रपुर द्वारा उत्तर प्रदेश की सीमा पर स्थित रुद्र बिलास पुलिस चौकी को दी कि रेलवे ट्रैक के किनारे एक शव पड़ा है। सूचना पर चौकी प्रभारी बोविंद्र शर्मा मौके पर पहुंचे। इसकी सूचना उन्होंने सीओ बिलासपुर व प्रभारी निरीक्षक कोतवाली बिलासपुर को दी। इस पर दोनो अधिकारी मौके पर पहुंचे। उन्होंने मौका मुआयना किया। मृतक के कपड़ों की तलाशी ली तो उसकी जेब से आधार कार्ड मिला। शिनाख्त आधार कार्ड से थाना ट्रांजिट कैंप निवासी अजय सरदार पुत्र किरन सरदार के रूप में हुई। बताया जाता है कि यूपी पुलिस ने रात्रि लगभग 2 बजे ट्रांजिट कैम्प पुलिस को सूचना दी। ट्रांजिट कैंप पुलिस की सूचना पर मृतक के परिजन बिलासपुर पहुंच गए। उसके बाद शव को पंचनामा की कार्रवाईके बाद पोस्टमार्टम के लिए रामपुर भेज दिया गया। कोतवाली प्रभारी बिलासपुर माधव सिंह बिष्ट ने बताया कि परिजनों से पूछताछ में सामने आया कि अजय का झगड़ा कल रात अपनी पत्नी के साथ हुआ था। उसके बाद वह घर से नाराज होकर चला गया था। उसके बाद उसका कुछ पता नहीं लगा। मृतक के पिता भाजपा नेता है। प्रभारी निरीक्षक माधो सिंह बिष्ट ने बताया पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद मौत के कारणों का पता चलेगा। मृतक के गले में निशान भी मिले हैं। उधर इस संबंध में मृतक के पिता से जानकारी चाही तो उनसे संपर्क नहीं हो पाया।


पिता पर पहले भी हो चुका है हमला
रुद्रपुर।
बता दें कि मृतक के पिता किरन सरदार पर चार वर्ष पहले जान लेवा हमला हो चुका है। वह हमले मे बाल बाल बच गये थे। हमलावर बिहार के थे। पुलिस जांच में हमलावरों को सुपारी देकर बुलाया गया था। उस मामले में कई हमलावर जेल जा चुके हैं।

About saket aggarwal

Check Also

नागरिक संशोधन बिल के विरोध में भाकपा(माले) का प्रदर्शन

हल्द्वानी। मानवाधिकार दिवस के अवसर पर भाकपा(माले) द्वारा घोषित राष्ट्रीय प्रतिवाद दिवस पर बुद्धपार्क में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *