Breaking News
Home / Crime / मृतक हाथी के दांत काटने का मामला: सौंग नदी के पास से हाथी दांत बरामद, चार आरोपी गिरफ्तार

मृतक हाथी के दांत काटने का मामला: सौंग नदी के पास से हाथी दांत बरामद, चार आरोपी गिरफ्तार

 

दो हफ्तों तक जंगलों की खाक छानने के बाद एसटीएफ टीम को मिली बड़ी कामयाबी

डोईवाला/ब्यूरो। थानों वन रेंज में 55 नंबर वन चौकी के पीछे मृतक हाथी के दोनों दांत काटकर ले जाने वाले मामले में एसटीएफ की टीम को दो हफ्ते बाद कामयाबी मिली है। इस मामले में एसटीएफ ने हाथी दांत सहित कुल चार आरोपियों को दबोच लिया है।

थानों वन रेंज में बीते 16 सितंबर को एक नर हाथी की संदिग्ध अवस्था में मौत हो गई थी। और मृतक हाथी के दोनों दांतों को भी काटकर ले जाया गया था। जिसके बाद से वन महकमे में हड़कंप मच गया था। और कई वन विभाग के कई अधिकारियों व कर्मचारियों पर निलंबन की तलवार लटक रही थी। लगभग दो हफ्तों तक वन विभाग और एसटीएफ टीम जंगलों की खाक छानती रही। इस मामले में वन गुर्जरों सहित कई ग्रामीणों से भी पूछताछ की गई। जिसके बाद शनिवार को टीम को सफलता मिल गई। एसटीएफ ने इस मामले में कुल चार आरोपियों को गिरफ्तार कर उनकी निशानदेही पर लच्छीवाला वन रेंज के अंतर्गत सौंग कक्ष संख्या 1 (डोईवाला के नजदीक) सेमल के पेड़ के नीचे से गढ्ढे में छिपाकर रखे गए दो हाथी दांत के कुल 6 टुकड़े बरामद किए हैं।

इस मामले में एसटीएफ एसएसपी रिधिम अग्रवाल द्वारा एक स्पेशल टॉस्क फोर्स का गठन किया गया था। जिसने वन विभाग के सहयोग से हाथी दांत मामले का खुलासा कर चार लोगों को दबोच लिया है। पूछताछ में चारों आरोपियों ने कहा कि जानवर चराने के दौरान उन्हे मृत हाथी दिखाया गया था। जिसके बाद उन्होंने हाथी दांत काटकर जंगल में छुपा दिए। पकड़े गए आरोपियों के नाम सुलेमान पुत्र फकीर अली, नूर दीन पुत्र फकीर अली दोनों निवासी सांकरी भानियावाला, इमाम पुत्र मुस्तफा ग्राम शेरपुर थाना सहसपुर और हनीफ पुत्र मूसा निवासी बक्सरवाला भानियावाला को हाथी दांत सहित गिरफ्तार किया गया है। मौके पर डीएफओ धर्मसिंह मीणा, एसडीओ बीबी मर्तोलिया, उदयनंद गौड, अरविंद डोभाल, इंदर सिंह, राजन सिंह पुण्डीर, संदीप नेगी, आशुतोष राणा आदि उपस्थित रहे।

अभी पूरी पिक्चर नहीं हुई है साफ

डोईवाला। एसटीएफ की टीम ने मृतक हाथी के काटे गए दांत समेत कुल चार लोगों को गिरफ्तार करने में सफलता पाई है। लेकिन अभी तक ये पता नहीं चल पाया कि पकड़े गए वन गुर्जरों ने किसके इशारे पर हाथी दांत काटे थे। और इन हाथी दांतों को वो किसे देने वाले थे। वहीं हाथी की मौत अभी भी रहस्य बनी हुई है। यदि हाथी को हाथी दांत के लिए मारा गया था। तो हाथी को किसने मरवाया इस पर से तश्वीर साफ होनी अभी बाकि है। यदि एसटीएफ और वन महकमा इस मामले का पूरा खुलासा करे तभी पूरी पिक्चर साफ हो पाएगी।

इन्होंने कहा

एसटीएफ और वन विभाग की टीम द्वारा हाथी दांत काटने वाले आरोपियों समेत हाथी दांत बरामद करने में सफलता पाई है। इस मामले में आगे भी जांच जारी रहेगी। जयराज, प्रमुख वन संरक्षक

About madan lakhera

Check Also

परमार्थ निकेतन में निशुल्क स्वास्थ्य शिविर शुरु

दंत रोग, डायबिटीज और अस्थमा की होगी जांच, मिलेगा उपचार लंदन और ऋषिकेश के डाॅक्टर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *