Breaking News
Home / aalekh

aalekh

रूपकुंड: जितना खूबसूरत उतना ही रहस्यमय

चमोली। रूपकुंड (कंकाल झील) भारत उत्तराखंड राज्य में स्थित एक हिम झील है जो अपने किनारे पर पाए गये पांच सौ से अधिक कंकालों के कारण प्रसिद्ध है। यह स्थान निर्जन है और हिमालय पर लगभग 5029 मीटर (16499 फीट) की ऊंचाई पर स्थित है। इन कंकालों को 1942 में …

Read More »

उत्तराखंड का गर्व है बेदनी बुग्याल

बुग्याल हिम रेखा और वृक्ष रेखा के बीच का क्षेत्र होता है। स्थानीय लोगों और मवेशियों के लिए ये चरागाह का काम देते हैं तो बंजारों, घुम्मंतुओं और ट्रैकिंग के शौकीनों के लिए आराम की जगह व कैंपसाइट का। गरमियों की मखमली घास पर सर्दियों में जब बर्फ की सफेद …

Read More »

लैंसडाउन उत्तराखंड का एक खूबसूरत छावनी शहर

पौड़ी। लैंसडाउन उत्तराखण्ड के पौड़ी गढ़वाल जिले में एक छावनी शहर है। उत्तराखण्ड के गढ़वाल में स्थित लैंसडाउन बेहद खूबसूरत पहाड़ी है। समुद्र तल से इसकी ऊंचाई 1706 मीटर है। यहां की प्राकृतिक छटा सम्मोहित करने वाली है। यहां का मौसम पूरे साल सुहावना बना रहता है। हर तरफ फैली …

Read More »

कत्यूरी शासनकाल की धरोहर है कटारमल का सूर्य म्ंदिर

दीपक मनराल , अल्मोड़ा। उत्तराखंड के स्वर्णयुग नाम से विख्यात गौरवशाली कत्यूरी शासनकाल की स्थापत्य कला और सूर्य उपासना का साक्ष्य कटारमल सूर्य म्ंादिर सदियों से पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र रहा है। समूचे भारत में कोणार्क के बाद यह सबसे बड़ा सूर्य म्ंादिर है। अल्मोड़ा नगर क्षेत्र से महज 17 …

Read More »

पिथौरागढ़ जिले में है आदि कैलाश, पार्वती कुंड

पिथौरागढ़:  आदि कैलाश को छोटा कैलाश के नाम से जाना जाता है और पार्वती सरोवर को गौरी कुंड के नाम से जाना जाता है। इन दोनों तीर्थस्थलों को कैलाश पर्वत और तिब्बत की मानसरोवर झील के समतुल्य माना जाता है। कैलाश मानसरोवर यात्रा के बाद आदि कैलाश यात्रा को सबसे …

Read More »

कुमाऊॅं के सर्वोच्च न्यायाधीश हैं गोल्जयू महाराज

दीपक मनराल, अल्मोड़ा। अल्मोड़ा से मात्र छह किमी की दूरी पर स्थित चितई स्थित न्याय देवता गोलू का मंदिर अपार श्रद्धा का केंद्र है। मनौतियों के लिए तो यह म्ांदिर पूरे कुमाऊं में प्रसिद्ध है, जिसके चलते इसे यदि कुमाऊं का सर्वोच्च न्यायालय कहा जाये तो अतिशियोक्ति नहीं होगी। गोलू देवता …

Read More »

कुमाऊं का ‘सर्वोच्च न्यायालय’ है चितई स्थित गोलू देवता का  मंदिर

दीपक मनराल, अल्मोड़ा। अल्मोड़ा से मात्र छह किमी की दूरी पर स्थित चितई स्थित न्याय देवता गोलू का मंदिर अपार श्रद्धा का केंद्र है। मनौतियों के लिए तो यह म्ांदिर पूरे कुमाऊं में प्रसिद्ध है, जिसके चलते इसे यदि कुमाऊं का सर्वोच्च न्यायालय कहा जाये तो अतिशियोक्ति नहीं होगी। गोलू देवता …

Read More »

अल्मोड़ा में खमसी बूबू की उपासना की अनूठी परंपरा

दीपक मनराल डेढ़ सौ सालों से शक्तिशाली आत्मा का पूजन अल्मोड़ा। कुमाऊं के विभिन्न ग्रामीण और शहरी अंचलों में आत्माओं को देवस्वरूप मानकर पूजा जाता है। लोगों का आत्माओं के अस्तित्व में दृढ़ विश्वास उन्हें कुछ शक्तिशाली आत्माओं को पूजने के लिए विवश करता है। माना जाता है कि यह …

Read More »

फूलों की घाटी: जहां कुदरत रहती है

चमोली। फूलों की घाटी उत्तराखंड के चमोली जिले में स्थित है। इस उद्यान को आमतौर पर सिर्फ फूलों की घाटी के नाम से सम्बोधित किया जाता है। फूलों की घाटी उद्यान 87.50 वर्ग किमी. क्षेत्र में फैला हुआ है। इसे 1982 ई. में राष्ट्रीय उद्यान घोषित कर दिया गया था। …

Read More »

हिमालय और आस्था का संगम: नंदा देवी मंदिर मुनस्यारी

मुनस्यारी: नंदा देवी उत्तराखंड मै पूजी जाने वाली देवी है जो की कुमाउ और गढ़वाल में दोनों ही मण्डल के लोग नंदा देवी की पूजा करते है।  नंदा देवी प्राचीन काल से पूजी जाती है, जिसके प्रमाण धार्मिक ग्रन्थो और उपनिषदो मे मिले है । रुप मंडन में पार्वती को गौरी के छ: …

Read More »