Home / Breaking News / सीबीएसई स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा को लेकर 14 सालों में जारी हुए 11 सर्कुलर
सांकेतिक फोटो

सीबीएसई स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा को लेकर 14 सालों में जारी हुए 11 सर्कुलर

नई दिल्ली (एजेंसी)। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने पिछले 14 साल में 11 अलग-अलग सर्कुलर जारी किए हैं, जो बताते है कि स्कूलों में सुरक्षा कितना महत्व रखती है। इन 11 सर्कुलर में फायर सेफ्टी मैनेजमेंट, स्ट्रक्चरल सेफ्टी, स्कूलों में हिंसा और रैगिंग से कैसे निपटें, यौन उत्पीडऩ से बच्चों को कैसे बचाएं और किस तरह स्कूल बसों में बच्चों की सुरक्षा को सुनिश्चित करें जैसे विषय शामिल हैं। सितंबर 2017 में जारी सर्कुलर के मुताबिक, स्कूल परिसर में बच्चों की सुरक्षा और कल्याण में उल्लंघन या खामियां उस स्कूल का रजिस्ट्रेशन और मान्यता रद्द कर सकती है।
सीबीएसई ने अपने एफिलिएटेड स्कूलों को स्कूलों के भीतर और बाहर के सभी संवेदनशील स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे लगाने का निर्देश जारी किया था। बोर्ड ने स्कूलों से यह भी सुनिश्चित करने को कहा था कि टीचिंग के साथ-साथ नॉन-टीचिंग स्टॉफ, जैसे कि बस ड्राइवर्स, कंडक्टर, चपरासी और अन्य सपोर्ट स्टॉफ की नियुक्ति अधिकृत एजेंसियों से ही की जाए। उनका प्रॉपर रिकॉर्ड मेंटेन किया जाए।
बोर्ड ने स्कूलों को यह भी निर्देश दिया कि वे स्टाफ, पैरेंट्स और स्टूडेंट्स की शिकायतों के निवारण के लिए अलग-अलग समितियां बनाएं। साथ ही प्रोटेक्शन ऑफ चिल्ड्रन फ्रॉम सेक्सुअल ऑफेंस एक्ट, 2012 (पॉक्सो एक्ट) के तहत यौन उत्पीडऩ से जुड़ी शिकायतों पर सुनवाई के लिए एक आंतरिक समिति गठित करें।
सीबीएसई ने अपने एफिलिएटेड स्कूलों के लिए यह अनिवार्य कर दिया है कि उनकी इमारतों को भूकंपरोधी डिजाइन किया गया हो और बुनियादी फायर सेफ्टी उपकरण लगाए गए हो। स्कूलों की इमारतों की सुरक्षा पर बिना समझौता किए कम लागत और एनवायरमेंट फ्रेंडली टेकनोलॉजी का लाभ उठाने पर फोकस करने को कहा गया है।
स्कूलों में नीति निर्माण प्रक्रिया में जोखिम प्रबंधन के प्रति प्रिवेंशन, प्रिपेयर्डनेस, रिस्पांस एंड रिकवरी, मॉडल का अनुसरण करना चाहिए। चाइल्ड प्रोटेक्शन से जुड़े मुद्दों पर यह मॉडल स्कूल एडमिनिस्ट्रेशन को अलर्ट बनाए रखने में मददगार होगा. सिक्योरिटी कैमरा स्कूल सेफ्टी इन्वेस्टिगेशंस में प्रभावी होते हैं या किसी गलत घटना या हरकत को रोकने में भी मददगार होते हैं।

About saket aggarwal

Check Also

किच्छा में भाजपा को झेलनी पड़ी करारी हार

40 में से मात्र दो वार्डों में जीते भाजपा के सभासद राजू सहगल,किच्छा। नगर निकाय …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *