Breaking News
Home / Breaking News / पर्यटकों से गुलजार पर्यटक स्थल चौकोड़ी

पर्यटकों से गुलजार पर्यटक स्थल चौकोड़ी

बेरीनाग। मैदानी क्षेत्रों में लगातार बढ़ती गर्मी के कारण पर्यटकों का पहाड़ों की ओर रूख बढ़ा है। विश्व पर्यटक स्थल चौकोड़ी में इन दिनों पूरी तरह से पर्यटकोंं से गुलजार हो रखा है। कुमाऊ मंडल विकास निगम का पर्यटक आवास गृह सहित स्थानीय स्तर पर एक दर्जन पूरी तरह से पैंक चल रहे है। 25मई तक एंडबास बुकिंग हो रखी है।चैकोड़ी से हिमालयन की पूरा क्षेत्र देखने से पर्यटक खुश है। दिल्ली,मुबंई,कनार्टक,राजस्थान,गुजरात आदि राज्यों के पर्यटक पहुंच रहे है।पर्यटकों ने बताया कि यहां का मौसम इतना अच्छा है गर्मी में ठंड के कपउे पहने का मौका मिल रहा है।सरकार को पर्यटक स्थल विकसीत करने के लिए और अधिक प्रयास करने चाहिए।पर्यटक आवास गृह के प्रभारी दीपक पंत ने बताया कि यहां पर पर्यटकों स्थानीय स्तर होने वाले इन दिनोंं पकने वाले फल काफल,हिसालू,आडू आदि सहित पहाड़ी व्यजन भी दिया जा रहा है।पर्यटकों को घुमने के लिए साईकिल की व्यवस्था की गयी है।

 

 

 

 

पाताल भवुनेश्वर में भी लगा है पर्यटकों का जमवाड़ा

बेरीनाग।पाताल भुवनेश्वर मेंं स्थित गुफा के दर्शन के करने के लिए पर्यटकों का भारी जमवाड़ा लगा हुआ है।दिनभर यहां पर गुफा का दर्शन करने को पर्यटक सहित भक्तों का ताता लगा हुआ है। मंदिर कमेटी के अध्यक्ष नीलम भंडारी ने बताया कि गुफा के अंदर पूरी रोशनी और सुरक्षा की पूरे इंतजाम किये गये है। गाइडों के द्वारा पूरी जानकारी दी जा रही है। पिछले 15 दिनों से भीड़ लगातार बड़ रही है।

 

 

 

 

चौकोड़ी में टैंकर से हो रही पानी की व्यवस्था

बेरीनाग।चौकोड़ी भले ही विश्व पर्यटक स्थल है लेकिन यहां पर पानी की वर्तमान मेें कोई भी साधन नही होने के कारण यहां पर पर्यटक आवास गृह सहित एक दर्जन होटलों में पानी के टैंकरों से पानी मांगकर काम करना पड़ रहा है। वर्तमान में चैकोड़ी उडियारी नई पेयजल योजना स्वीकृत है जिसमें कुछवा गति से काम चल रहा है।गर्मी के मौसम में लोगों को पानी के लिए परेशान होना पड़ रहा है।

 

 

 

 

जंगलों में लगी आग से हो रही परेशानी

बेरीनाग। लगातार जंगलों में आग लगने से फैल रही धुए से पर्यटक भी परेशान है। पर्यटकों ने बताया की धुंए से आंखों में जलन होने के कारण घुमने में भी परेशानी हो रही है।यहां की प्रकृति को आग से बचाने के लिए सरकार को कोई ठोस कदम उठाने चाहिए जिससे प्रकृति और यहां की सुन्दरता बची रहे।

About saket aggarwal

Check Also

रुद्रपुर : पाश्चात्य संस्कृति से भिड़ी भारतीय संस्कृति

रुद्रपुर। पाश्चात्य सभ्यता की नुमाइश कर रही एक महिला की तारीफ करना भारतीय सभ्यता की …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *