Home / Breaking News / रुड़की: सिविल अस्पताल बना रेफर सेंटर

रुड़की: सिविल अस्पताल बना रेफर सेंटर

रुड़की। सिविल अस्पताल रुड़की रेफर सेंटर बनकर रह गया है। दुर्घटना में घायल को यहां पर उपचार के लिए लाया जाता है, लेकिन प्राथमिक उपचार देने के बाद उसके तीमारदारों को रेफर स्लिप थमा दी जाती है। इसके अलावा हृदय रोगी और अन्य गंभीर मरीजों को यहां उपचार नहीं मिल पाता है। इसकी सबसे बड़ी वजह अस्पताल में विशेषज्ञ चिकित्सकों की भारी कमी होना है।
सिविल अस्पताल रुड़की भले ही प्रदेश के बड़े अस्पतालों की फेहरिस्त में शामिल हो, लेकिन यहां पर मरीजों को आधा-अधूरा ही इलाज मिल पाता है। दिल्ली-देहरादून और दिल्ली-हरिद्वार हाईवे रुड़की से होकर गुजरते हैं। यही वजह है कि यहां आए दिन औसतन दो से तीन छोटी-बड़ी दुर्घटनाओं का होना आम बात है। लक्सर, मंगलौर, नारसन, लंढौरा, झबरेड़ा, भगवानपुर, कलियर, बुग्गावाला, धनौरी आदि क्षेत्रों में मात्र सिविल अस्पताल रुड़की ही सबसे बड़ा अस्पताल है। इसलिए इन क्षेत्रों में होने वाली छोटी-बड़ी दुर्घटनाओं के सभी घायलों को सबसे पहले उपचार के लिए रुड़की सिविल अस्पताल ही लाया जाता है, लेकिन यहां पर घायलों को पूरा उपचार देने की बजाए उसके तीमारदारों को रेफर स्लिप थमा दी जाती है। कई बार तो घायलों को उपचार के लिए हायर सेंटर ले जाते समय रास्ते में ही उनकी मौत हो जाती है। अस्पताल में घायलों और गंभीर मरीजों को उपचार के बजाय रेफर स्लिप मिलने से लोग बेहद परेशान हैं।

About saket aggarwal

Check Also

रुद्रपुर:स्थायी लोक अदालत में निपटेंगे एक करोड़ तक के मामले

रुद्रपुर। विधिक सेवा प्राधिकरण 1987 की धारा 22बी के अंतर्गत राज्य सरकार ने चार जिलों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *