Home / Accident / एयरपोर्ट पर नम आंखों से दी मुख्यमंत्री ने शहीद को श्रद्धांजलि

एयरपोर्ट पर नम आंखों से दी मुख्यमंत्री ने शहीद को श्रद्धांजलि

विस अध्यक्ष समेत सैकड़ों लोगों ने किया शहीद की शहादत को सलाम

जौलीग्रांट/ब्यूरो। जम्मू-कश्मीर में रविवार सुबह आतंकियों से लोहा लेते हुए देश की खातिर अपनी जान कुर्बान करने वाले ऋषिकेश निवासी लांसनायक प्रदीप सिंह रावत 28 का पार्थिव शरीर सेना के विशेष विमान से जौलीग्रांट लाया गया।

एयरपोर्ट पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, विधानसभा अध्यक्ष और ऋषिकेश विधायक प्रेमचंद अग्रवाल समेत सैकड़ों लोगों को शहीद प्रदीप की शहादत को सलाम किया। मुख्यमंत्री रावत और विस अध्यक्ष अग्रवाल ने शहीद को नम आंखों से श्रद्धा-सुमन अर्पित किए। शहीद प्रदीप सिंह रावत पुत्र कुंवर सिंह रावत निवासी सोमेश्वर नगर, ऋषिकेश का पार्थिव शरीर सेना के विशेष विमान द्वारा शाम 4:30 बजे एयरपोर्ट लाया गया।

एयरपोर्ट के वीआईपी गेट संख्या 2 पर तिरंगे में लिपटा शहीद का पार्थिव शरीर रखा गया। जहां मुख्यमंत्री, विस अध्यक्ष और तमाम लोगों ने शहीद को श्रद्धांजलि दी। सेना के जवानों ने शहीद को गार्ड ऑफ आर्नर दिया। उसके बाद शहीद के पार्थिव शरीर को सेना के वाहन द्वारा सोमेश्वर, ऋषिकेश ले जाया गया। उल्लेखनीय है कि लांसनायम प्रदीप सिंह चौथी गढवाल राइफल में तैनात थे। और वर्तमान में वो जम्मू-कश्मीर के उड़ी सेक्टर में तैनात थे। वो मूल रूप से टिहरी में दोगी पट्टी के बमुंड गांव के रहने वाले थे। और 2010 में सेना में भर्ती हुए थे। मौके पर विधायक गणेश जोशी, दिनेश सजवाण, संपूर्ण रावत, नरेंद्र नेगी, कुसुम कंडवाल, सुरेश जुयाल, रामसिंह नेगी आदि उपस्थित रहे।

हाल ही में ऋषिकेश के तीन जांबाज देश की खातिर हुए कुर्बान

जौलीग्रांट। उत्तराखंड से सेना में जाकर देश की खातिर मर-मिटने वाले सैनिकों की संख्या काफी अधिक है। लेकिन हाल ही में ऋषिकेश के तीन जांबाजों ने देश की खातिर अपना बलिदान दिया है। कुछ दिन पहले बिकास गुरंग उसके बाद हमीर पोखरियाल और अब प्रदीप सिंह रावत ने देश की खातिर अपने प्राणों की आहूति दी है। जिससे पता चलता है कि ऋषिकेश धर्म और आध्यात्म के क्षेत्र में ही नहीं बल्कि देश की खातिर मर-मिटने वालों में भी सबसे आगे है।

About madan lakhera

Check Also

16608 शिक्षकों की दूर होगी पीड़ा

राज्य के विशिष्ट बीटीसी अध्यापकों को मिलेगी राहत सांसद बलूनी का प्रदेश को एक और …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *