Breaking News
Home / Uttatakhand Districts / Bageshwar / बागेश्वर : दायित्वों का ईमानदारी से निवर्हन करें अधिकारी

बागेश्वर : दायित्वों का ईमानदारी से निवर्हन करें अधिकारी

बागेश्वर। जिला निर्वाचन अधिकारी रंजना राजगुरु ने लोकसभा सामान्य निर्वाचन के सुगमतापूर्वक एवं सफलतापूर्वक निष्पादन के क्रम में एमसीएमसी, कन्ट्रोल रूम आदि का औचक निरीक्षण किया। मीडिया प्रमाणन समिति सेंटर का निरीक्षण करने पर उन्होंने निर्वाचन में लगाये गये अधिकारियों को कहा कि दैनिक समाचार पत्रों एवं न्यूज चैनलों में आने वाले खबरों का गहनता के साथ अवलोकन करें। जिन अधिकारियों एवं कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गयी है वे पूर्ण ईमानदारी के साथ अपने कार्यों का निर्वहन करना सुनिश्चित करें। डिस्ट्रिक्ट कॉन्टेक्ट सेंटर एवं 1950 वोटर हेल्प लाइन टॉल फ्र ी नंबर का निरीक्षण करने पर पाया कि पूछताछ एवं सूचना प्राप्त करने से संबंधित 425 कॉल प्राप्त हुई है। जिसमें सभी कॉलों का तत्काल रूप से सूचना उपलब्ध कराई गयी। इसके अतिरिक्त 47 शिकायतें प्राप्त हुई जिसमें सभी शिकायतों का निस्तारण किया जा चुका है 19 अन्य जानकारियों से संबंधित काल प्राप्त हुई है जिन्हें तत्काल जानकारी उपलब्ध करायी गयी। स्थापित निर्वाचन कन्ट्रोल रूम में एक शिकायत सूचना चाहने के संबंध में प्राप्त हुई है जिसे तत्काल सूचना प्रदान कर दी गयी। सी-विजिल एप में पोस्टर बैनर से संबंधित 53 शिकायतें प्राप्त हुई जिसमें सभी शिकायतों का निस्तारण निर्धारित समय सीमा के अन्तर्गत कर लिया गया है।
जिलाधिकारी रंजना राजगुरु ने निरीक्षण के दौरान सम्बन्धित अधिकारियों को कड़े निर्देश जारी करते हुए कहा कि निर्वाचन एक महत्वपूर्ण प्रक्रिया है इसलिए जिसे जो दायित्व सौंपे गये हैं उन दायित्वों का निर्वहन पूर्ण ईमानदारी के साथ करना सुनिश्चित करें। निरीक्षण के दौरान अपर जिलाधिकारी राहुल कुमार गोयल, उप जिलाधिकारी कांडा योगेन्द्र सिंह, जिला पूर्ति अधिकारी अरूण कुमार वर्मा, जिला उद्यान अधिकारी तेजपाल सिंह, आपदा प्रबन्धन अधिकारी शिखा सुयाल, उप शिक्षा अधिकारी पूनम चौहान, ई-डिस्ट्रिक मैनेजर रोहित बहुगुणा आदि मौजूद थे।

 

 
शिकायत निवारण को कमेटी गठित
बागेश्वर। लोकसभा सामान्य निर्वाचन को लेकर जिला निर्वाचन अधिकारी/जिलाधिकारी रंजना राजगुरु द्वारा कैश जब्ती के मामलों के निस्तारण एवं आम जनता तथा सही व्यक्तियों को असुविधा से बचाने के लिए तथा उनकी शिकायतें यदि कोई हो, का निवारण करने के लिए कमेटी का गठन किया गया है। जिसमें अमर सिंह गुंजयाल, परियोजना निदेशक, नीतू भंडारी वरिष्ठ कोषाधिकारी, पूरन चन्द्र उप्रेती, हरीश सिंह धपवाल सदस्य हंै। समिति पुलिस अथवा स्थैतिक निगरानी दल अथवा उडऩ दस्ते द्वारा की गयी जब्ती के प्रत्येक मामले की अपनी ओर से जांच करेगी।

About saket aggarwal

Check Also

नैनीताल: बारिश ने खोली पालिका की सफाई व्यवस्था की पोल

उत्तरांचल दीप ब्यूरो, नैनीताल। शुक्रवार को यहां सुबह से ही आसमान में बादल छा गये। इस …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *