Breaking News
Home / Breaking News / सोशल मीडिया पर धूम मचा रहे देवेंद्र की गीत, यू-ट्यूब पर दर्शकों का आंकड़ा पहुंचा 45 हजार के पार

सोशल मीडिया पर धूम मचा रहे देवेंद्र की गीत, यू-ट्यूब पर दर्शकों का आंकड़ा पहुंचा 45 हजार के पार

दून से स्नातक की पढ़ाई कर रहे देवेंद्र पंवार

मुकेश रावत, थत्यूड़ (टिहरी)। जौनपुर के उभरते लोक गायक देवेन्द्र पंवार इन दिनों सोशल मीडिया पर छाए हुए हैं। उनके गीत धूम मचा रहे हैं। देवेंद्र के बीरू मामा व बिमला राणिऐ आदि गीत फरवरी माह में ही यू-टयूब पर लॉन्च हुए थे और एक महीने में इन्हें देखने व सुनने वालों का आंकड़ा 45000 के पार जा पहुंचा है। जौनपुर व जौनसार बावर क्षेत्र में देवेंद्र के गीतों को काफी पसंद किया जा रहा है। इसके अलावा प्यारी चन्दा ऐय जय देवा नागराज, मामा मोतीराम व आइशा रानी जैसे गीत भी लोकप्रियता की बुलंदियों को छू रहे हैं।
जौनपुर पालीगाड़ क्षेत्र के ग्राम ओडार्सू देवलसारी मे जन्मे देवेंद्र पंवार ने अपनी इंटर की पढाई राइका बगंसील से पूरी की। इन दिनों वह स्नातक की पढ़ाई देहरादून से कर रहे हैं। पिता जयेन्द्र पंवार व माता लक्ष्मी देवी पंवार गांव में ही खेती बाड़ी का काम करते हैं। देवेंद्र को बचपन से ही गीत-संगीत का शौक रहा। संंसाधनों की कमी के बावजूद वह पहाड़ी संस्कृति और बोली-भाषा को अपने गीतों के माध्यम से आगे बढ़ाने में जुटे हुए हैं। इस मुहिम में देवेंद्र को अपने बड़े भाई राकेश पंवार का सक्रिय सहयोग मिल रहा है। देवेंद्र ने दिसंबर 2016 मे अपनी पहली एलबम आइशा राणी बाजार में उतारी, जिसे लोगों ने हाथों-हाथ लिया। इस कामयाबी के बाद देवेंद्र ने पीछे मुड़कर नहीं देखा और गीत-संगीत के क्षेत्र में लगातार आगे बढ़ रहे हैं।
देवेंद्र एक साल के भीतर ही दर्जन भर गीतों को यू ट्यूब पर रिलीज कर चुके हैं। देवेंद्र के गीत क्षेत्र में पसंद किए जा रहे हैं और शादी व अन्य शुभ कार्यक्रमों में लोग देवेंद्र के गीतों पर थिरकते हुए देखे जा सकते हैं। देवेंद्र ने युवा दिलों पर अपनी खास जगह बनाई है। उत्तरांचल दीप सवांददाता से खास बातचीत में देवेंद्र ने बताया कि गीतों के जरिये अपनी लोक संस्कृति को संजोने और आगे बढ़ाने के लिए लगातार प्रयासरत हूं। उन्होंने कहा कि मेरी आने वाली एलबम आयशा राणी-2 को लेकर युवाओं में अभी से उत्साह बना है।

About saket aggarwal

Check Also

हल्द्वानी:परिवार को सौंपा नेत्रदान का सर्टिफिकेट

हल्द्वानी। समाजसेविका कांता विनायक के अथक प्रयासों से अब तक 65 नेत्रदान हो चुके हैं …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *