Breaking News
Home / Uncategorized / नैनीताल: डीएम ने सुनीं फरियादियों की समस्याएं, अधिकारियों को दिए जन समस्याएं सुनने के निर्देश

नैनीताल: डीएम ने सुनीं फरियादियों की समस्याएं, अधिकारियों को दिए जन समस्याएं सुनने के निर्देश

नैनीताल। प्रदेश सरकार के आदेशों के क्रम में प्रत्येक सोमवार को जिलाधिकारी द्वारा कलक्ट्रेट में जन समस्याएं सुनकर उनका निराकरण किया जा रहा है। इसी कड़ी में सोमवार को जिलाधिकारी दीपेन्द्र कुमार चौधरी द्वारा कलक्ट्रेट स्थित अपने कार्यालय में दूरदराज से आये फरीयादियों की समस्यायें सुनीं तथा उनका निराकरण किया। उन्होंने जनपद के सभी अधिकारियों को निर्देश दिये कि वह प्रत्येक कार्य दिवस में प्रात: 10 बजे से 12 बजे के बीच अपने अपने कार्यालयों में उपस्थित रहकर जन समस्यायें सुनें तथा यथा समय उनका निराकरण करना सुनिश्चित करें।

उन्होंने अधिकारियों से कहा कि समाधान पोर्टल में अंकित होने वाली समस्याओं को भी अधिकारी प्राथमिकता के आधार पर निस्तारित करना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी चौधरी ने बताया कि प्रत्येक सोमवार को वह कलक्ट्रेट में तथा प्रत्येक शनिवार को वह अपने शिविर कार्यालय हल्द्वानी में जनसमस्यायें सुनते हैं। उन्होंने बताया कि जनसमस्याओं का निराकरण उनकी प्राथमिकता में है। जिलाधिकारी के सम्मुख प्रकाश सिंह मटियाली एवं समस्त ग्रामवासी ग्राम सभा ल्वाड़ डोबा, पोस्ट हरीशताल, तहसील धारी ब्लॉक ओखलकांडा वालों ने अपनी बीएसएनएल टावर लगने के लिए भूमि लीज में दिये जाने के सम्बन्ध में अपनी समस्या रखी। उन्होंनें जिलाधिकारी को बताया कि लगभग 2014 से टावर लगने की प्रक्रिया प्रारम्भ हो चुकी थी परन्तु ब्लॉक ओखकांडा में तीन साल से ज्यादा समय हो चुके हैं जहॉ पर टावर नहीं लग पाया है। इस दौर में इंटरनेट व मोबाईल के जरिये से कई कार्यों को करने में आसानी हो जाती है। यहॉ कभी कोई किसी गांव वालों व किसी अन्य से सम्पर्क करना चाहते हैं तो उनका स्वयं आने जाने में ही काफी समय निकल जाता है, जिसपर जिलाधिकारी ने कहा कि जिला स्तर से बीएसएनएल को भूमि चयनित कर प्रस्ताव बना कर शासन को भेजा जा चुका है। उन्होंने बताया कि यह भूमि राजस्व सरकार की भूमि है और बीएसएनएल राज्य सरकार की संस्था नहीं है। जिलाधिकरी ने कहा कि जो प्रस्ताव बनाकर भेजा है उसमें इस बात को रखा गया है कि उनको निशुल्क भूमि दिये जाने व न्यूनतम कीमत पर लम्बी अवधि के लिए भूमि दिये जाने को कहा है। इस अवसर पर महेन्द्र क्यूरा, हेमन्त गोनिया, भूवन बिष्ट, गोपाल गोनिया, दयाल मटियाली, दीपक, कुन्दन गोनिया आदि मौजूद थे।

About saket aggarwal

Check Also

रुद्रप्रयाग: पांडवो ने बनवाया था मध्यमहेश्वर मंदिर

रुद्रप्रयाग: भगवान् शिव को समर्पित पंच केदारों में से एक, ‘मध्यमहेश्वर’, उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग ज़िले …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *