Home / Uttatakhand Districts / Dehradun / सिपेट संस्थान में दाखिले के साथ ही नौकरी पक्की: अनंत कुमार

सिपेट संस्थान में दाखिले के साथ ही नौकरी पक्की: अनंत कुमार

डोईवाला में राज्य के पहले सिपेट संस्थान का शुभारंभ

डोईवाला/ब्यूरो। केंद्रीय रसायन एवं उर्वरक मंत्री अनंत कुमार और सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने मेन इन इंडिया के तहत डोईवाला में सौंग नदी के पास राज्य के पहले और देश के 32वें सिपेट संस्थान का शुभारंभ किया।

अनंत कुमार ने कहा कि सिपेट (सेंट्रल इंस्ट्टीट्यूट ऑफ प्लास्टिक इजीनियरिंग एंड टेक्नालॉजी) संस्थान देश के आईआईटी जैसा ही संस्थान है। इस संस्थान में सर्टिफिकेट कोर्स से लेकर डिग्री कोर्स और पीएचडी तक करवाई जाएगी। देश और विदेश में सिपेट से जुड़े लोगों की भारी मांग है। जिस कारण इस संस्थान में कोर्स करने के बाद नौकरी की गारंटी है। डोईवाला में 1500 विद्यार्थियों और तीन वर्ष बाद 3000 विद्यार्थियों को सिपेट प्रशिक्षण देने की पूरी तैयारियां कर ली गई हैं। कहा कि देश में कुल 50 सिपेट संस्थान खोले जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि केंद्र सरकार ने मॉनसून सीजन में राज्य के ऊपर सौगातों की बरसात कर दी है। डोईवाला में 51 करोड़ की लागत से करीब 10 एकड भूमि पर सिपेट का विस्तार किया जाएगा। इसमें केंद्र और राज्य दोनों बराबर इनवेंट करेंगे। सिपेट में 85 फीसदी सीटें राज्य के युवाओं के लिए आरक्षित रहेंगी। कहा ऋषिकेश आईडीपीएल की कुल 899.53 एकड भूमि में से कुल 833.23 भूमि केंद्र ने निशुल्क राज्य को दे दी है। जिसका पत्र भी केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार ने उन्हे इसी कार्यक्रम में सौंपा है।  आईडीपीएल की राज्य को मिली कुल भूमि में से 200 एकड एम्स के विस्तार को और बाकि 600 एकड भूमि पर विश्व स्तर का कन्वेशन सेंटर स्थापित किया जाएगा। कुछ भूमि पर आईडीपीएल को भी चालू किया जाएगा। कार्यक्रम में अजय भट्ट, डां0 रमेश पोखरियाल निशंक, प्रमुख सचिव उद्योग मनीषा पंवार, पी राघवेंद्र, सीपेट महानिदेशक एसके नायक ने भी विचार रखे। मौके पर हरबसं कपूर, धन सिंह रावत, जार्ज आइवन ग्रेगरी मैन, उत्पल कुमार, शमशेर पुण्डीर, रामेश्वर लोधी, विपुल मंदौली, संपूर्ण रावत, पुरूषोत्तम डोभाल, उम्मेद बोरा, नरेश उनियाल, राजेंद्र तडियाल, दिनेश सजवाण आदि उपस्थित रहे।

उत्तराखंड को ये भी मिली सौगात

डोईवाला। केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार ने कहा कि राज्य में 106 जन औषधि केंद्र खोले जा चुके हैं। 100 और जन औषधि केंद्र राज्य को दिए जा रहे हैं। डोईवाला में जल्द ही एक प्लास्टिक रिसाइकिल यूनिट की स्थापना की जाएगी। द्वाराहाट में राज्य का दूसरा सिपेट संस्थान और सितारगंज में प्लास्टिक मेडिकल डिवाइसेज पार्क खोले जाएंगे। राज्य में ड्रोन पायलट ट्रैनिंग सेंटर, कोस्ट गार्ड सेंटर खोलने पर विचार किया जा रहा है। वहीं हरिद्वार सांसद निशंक ने सिपेट संस्थान को मेन इन इंडिया की बड़ी कामयाबी बताया। अजय भट्ट ने कहा कि देश में वर्तमान में 8 लाख सिपेट प्रशिक्षकों की जरूरत है। लेकिन हम केवल 80 हजार प्रशिक्षित युवा ही दे पा रहे हैं। कहा कि आज साईकिल से लेकर अंतरिक्ष यानों तक में प्लास्टिक का इस्तेमाल किया जा रहा है। जिस कारण सिपेट संस्थान का काफी महत्व है।

सिपेट परीक्षा देने का विकल्प केवल हिंदी

डोईवाला। पूर्व प्रधान और अभिभावक उम्मेद बोरा ने कहा कि बीती 8 जुलाई को सिपेट में दाखिले के लिए देहरादून में ऑन लाइन परीक्षा आयोजित करवाई गई थी। जिसमें उनके बच्चे ने भी परीक्षा दी थी। परीक्षा एक घंटे की थी। जिसमें कुल 60 प्रश्न पूछे गए थे। लेकिन इस परीक्षा में परीक्षा का विकल्प केवल हिंदी रखा गया। जबकि राष्ट्रीय स्तर के संस्थान में परीक्षा का विकल्प अंग्रेजी भी होना चाहिए था। केवल हिंदी विकल्प होने के कारण कई बच्चे परीक्षा को ढंग से नहीं दे पाए। उनकी मांग है कि सिपेट परीक्षा को दोबारा आयोजित करवाया जाए।

मुख्यमंत्री के आने तक कुर्सियां रही खाली

डोईवाला। सिपेट संस्थान के शुभारंभ कार्यक्रम में सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत के पहुंचने तक काफी कुर्सियां खाली रही। सीएम के साथ आए लोगों के बाद ही कुर्सियां भर पाई। दरअसल सिपेट संस्थान के इस कार्यक्रम को 14 जनवरी के दिन भानियावाला में आयोजित किया गया था। जिसमें भारी भीड़ जुटी थी। लेकिन केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार के नहीं पहुंचने के कारण तब सिपेट का शुभारंभ नहीं किया जा सका था। मंगलवार को आयोजित कार्यक्रम में लोगों और कार्यकर्ताओं की काफी कम भीड़ रही। जिस कारण सीएम के आने तक कुर्सियां खाली रही।

About madan lakhera

Check Also

देहरादून: शाम तक 65 फीसद से अधिक मतदान होने की उम्मीद

  जगह-जगह लिस्ट से नाम गायब होने पर भडक़े लोग देहरादून। प्रदेश में 84 शहरी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *