Home / Breaking News / रुद्रपुर:फिलहाल तो पुलिस बस ‘देशाटन’ पर

रुद्रपुर:फिलहाल तो पुलिस बस ‘देशाटन’ पर

रुद्रपुर। मां सर्वेश्वरी इन्क्लेव में हुई डकैती व महिला की हत्या के मामले में पुलिस अभी बस देशभर में सक्रिय बदमाशों के गैंग्स का सिजरा ही जुटा रही है। यूं कहें कि इस मामले में पुलिस अभी बस ‘देशाटन’ ही कर रही है। यानी इधर-उधर घूमकर ‘सेम नेचर’ बदमाशों के बारें में जानकारियां हासिल की जा रही है लेकिन नतीजा अभी सिफर ही है।
महिला की हत्या कर डकैती की वारदात को अंजाम देने वाले बदमाशों की तलाश में पुलिस उत्तर प्रदेश से लेकर राजस्थान तक डेरा डाली हुई है। डकैतों की तलाश में यूपी के कासगंज, अलीगढ़, बरेली, मुरादाबाद, शामली संभल, एटा और बदायंू में टीमें पहुंची हुई हैं। इन टीमों ने 250 से ज्यादा संदिग्धों का डाटा एकत्रित कर एसओजी को भेज दिया है। पारदी, छैमार, बावरिया जैसे नामी गिरोह के पीछे पुलिस की तफ्तीश चल रही है। 250 से अधिक सक्रिय बदमाशों के नंबर मिलने के बाद पुलिस की टीम मध्य प्रदेश व राजस्थान पहुंच चुकी है। फिलहाल इन बदमाशों की लोकेशन तलाशी जा रही है। यहां बता दें कि शुक्रवार देर रात मां सर्वेश्वरी इन्क्लेव निवासी ईडन मोटर्स के प्रोडक्शन मैनेजर पंकज श्रीवास्तव की पत्नी अपर्णा प्रिया की हत्या कर डकैती की वारदात को अंजाम दिया गया था। घटना में पंकज और उनकी डेढ़ साल की पुत्री गंभीर रूप से घायल हो गई थी। एसएसपी ने घटना के मौका मुआयना के बाद ही 15 टीमों का गठन कर दिया था। पुलिस को सर्विलांस से तो कोई सफलता हाथ नहीं लगी है लेकिन इतना जरूर है कि पुलिस देशभर में सक्रिय बदमाशों का डोजियर जरूर तैयार रही है। इसी के चलते बंगाल का बांग्लादेशी ग्रिल गिरोह भी पुलिस के रडार पर है। इस गैंग की सक्रियता भी उत्तराखंड में सामने आ चुकी है। पता चला कि पूर्व में यह गिरोह देहरादून में वारदात को अंजाम दे चुका है। अब पुलिस का ध्यान इस पर भी है। यह गैंग भी ग्रिल को काटकर घर में प्रवेश कर वारदात करता है। इस गिरोह के संबंध में देहरादून पुलिस से जानकारी जुटाई है।

 

 

जिले की पुलिस नाकारा साबित : अरोरा
रुद्रपुर। व्यापार मंडल के महामंत्री हरीश अरोरा ने कहा कि जिला मुख्यालय सहित जनपद में आए दिन हत्या, लूट, डकैती, अपहरण, राहजनी, छीना झपटी सहित कई आपराधिक घटनाएं दिनदहाड़े हो रही है जबकि पुलिस घटनाओं के खुलासे के नाम पर बैठकर रणनीति बनाने में ही समय व्यतीत कर रहे है। उन्होंने कहा आम जनता का पुलिस पर से विश्वास पूरी तरह से उठ चुका है कोई भी व्यक्ति अपने आप को सुरक्षित महसूस नहीं कर रहा है। अरोरा ने कहा जिला मुख्यालय में 28 दिसंबर 2015 की रात्रि मॉडल कॉलोनी में प्रेम अरोरा के आवास पर हुई लाखों की डकैती के मामले का पुलिस अभी तक नहीं खुलासा नहीं कर पाई है। बीते दिनों सिंह कॉलोनी में खाद्य विपरण अधिकारी नरेश चौहान व सेठी नमकीन शिवम सेठी के आवास पर परिजनों को बंधक बनाकर लाखों रुपए की नगदी व जेवरात लूट ले गए। एक के बाद एक आपराधिक घटनाओ के खुलासे को लेकर जिला पुलिस प्रशासन अभी रणनीति बना रहा है। अरोरा ने कहा कि इसके अतिरिक्त नगर के अनेक आवासीय कॉलोनी व बाजार क्षेत्र में आए दिन चोरी की घटनाएं घटित हो रही है लेकिन पुलिस घटनाओं का खुलासा करना तो दूर पीडि़त व्यक्ति की रिपोर्ट भी दर्ज नहीं कर रही। ट्रांजिट के क्षेत्र में आए दिन चोरी की घटनाएं हो रही है लेकिन पुलिस रिपोर्ट दर्ज करने में पूरी तरीके से लापरवाही बरत रही है ताकि पुलिस रिकॉर्ड में अपराधिक घटनाओं के ग्राफ को कम किया जा सके लेकिन नगर में अपराधिक घटनाएं दिनों दिन बढ़ती जा रही है। बाजार क्षेत्र में अनेक स्थानों पर पूर्व में हुई लाखों की चोरी की घटनाओं का पुलिस अभी तक खुलासा नहीं कर पाई है। वहीं गत रात्रि गल्ला मंडी में चोरों ने गोदाम से लाखों की कीमत का सामान चोरी कर लिया जिससे व्यापारियों का भी बाजार चौकी पुलिस पर से विश्वास उठता जा रहा है। उन्होंने कहा कि पुलिस एवं सीपीयू का काम सिर्फ वसूली करने तक सीमित होकर रह गया है। अब जबकि नगर में एक के बाद एक लूट, हत्या व डकैती की घटनाओं में इजाफा हुआ तो पुलिस को अपने कर्तव्य की याद आई और अधिकारियों ने जनपद के समस्त अधीनस्थ अधिकारियों व कर्मचारियों को आपराधिक घटनाओं के खुलासे के लिए कड़े निर्देश जारी कर दिए। अरोरा ने कहा कि यदि पुलिस ने आपराधिक घटनाओं को पहले से गंभीरता से लेकर ठोस कदम उठाए होते तो निश्चित रुप से आपराधिक घटनाओं पर नकेल कसी गई होती। उन्होंने कहा कि पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश में पुलिस प्रशासन द्वारा इनामी व कुख्यात बदमाशों के प्रारंभ किए गए एनकाउंटर के पश्चात वहां से आपराधिक तत्व देवभूमि की ओर आ रहे हैं और उन्होंने जनपद उधमसिंहनगर को अपना ठिकाना बना लिया है जहां आए दिन संगीन घटनाएं घटित हो रही है। अरोरा ने कहा यदि पुलिस ने आपराधियों पर नकेल कसने के लिए ठोस कदम उठा कर हुई डकैती की घटनाओं का खुलासा नहीं किया तो व्यापारी आम जनता को साथ लेकर पुलिस के खिलाफ सडक़ों पर उतर कर आंदोलन करने को बाध्य होंगे।

About saket aggarwal

Check Also

हल्द्वानी: सरकारी वाहन की टक्कर से ऑटो पलटा

चार महिलाएं घायल, वाहन चालक दबोचा हल्द्वानी। सरकारी वाहन की टक्कर से एक ऑटो सडक़ …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *