Home / Agriculture / पौष्टिकता के लिए प्रसिद्ध मडुवा व गहत बाजारों में बढ़ी मांग

पौष्टिकता के लिए प्रसिद्ध मडुवा व गहत बाजारों में बढ़ी मांग

गहत 120 रूपये किलो व मडुवा 32 से 40 रूपये प्रति किलो में उपलब्ध

उत्तरांचल दीप ब्यूरो, नैनीताल। सरकार द्वारा पहाड़ी दालों व अनाजों का समर्थन मूल्य तय किया लेकिन सच यह है कि अधिक उत्पादन नहीं होने के कारण काश्तकार अपना उत्पादन मंडी में कम बल्कि सीधे बाजारों में भेज रहे है। इन दिनों गहत व मडुवा सहित अन्य दालों की मांग बढ़ गई है। खसतोर पर गहत की मांग अधिक बनी हुई है। बाजार में गहत 100 रूपये से 120 रूपये तक उपलब्ध हो रही जबकि मडुवा का आटा 32 से 40 रूपये प्रति किलो उपलब्ध है। जबकि सरकार ने गहत का समर्थन मूल्य 72 रूपये व मडुवें का समर्थन मूल्य 18 रूपये किलो तय किया है। अस्पतालों व स्कूलों में भी मडुवे के आटे की मांग तेजी से बढ़ रही है।

मालूम हो कि जंगली जानवरों के भारी नुकसान के कारण पर्वतीय क्षेत्र में काश्तकारों ने खेती करना कम कर दिया था। जिस कारण मडुवा, कौड़ी, गहत, भट्ट सांवा, रामदाना व राजमा का उत्पादन भी कम हो गया। पिछले दो वर्षों से लगातार सरकार द्वारा इन दालों व अनाजों के उत्पादन पर फोकस करने व इनका प्रयोग जलसों, महात्सवों, स्कूल व अस्पतालों में करने तथा उपभोक्ताओं की मांग के साथ ही इन अनाजों का समर्थन मूल्य तय करने पर इनकी मांग अचानक बढ़ गई इस बार इसके उत्पादन में बढ़ोतरी हुई है। इस बार यह फसल अब बाजारों में उपलब्ध है। काश्तकारों के उत्पादन पर पहली बार समर्थन मूल्य तय किया गया है। यदि काश्तकार अपना उत्पादन मंडी ले जाता है तो उसे मडुवा का 1800 रूपया कुतंल, रामदाना 2250 रूपया, भट 2600 रूपये, राजमा 2700 रूपया व गहत 7200 रूपया प्रति कुटंल मिलेगा। देखा गया है कि अधिकांश काश्तकार अपना उत्पादन सीधे बाजारों में भेज रहे है। जानकारी नहीं होने के कारण कम काश्तकार मंडी तक पहुंच रहे हैं समझा जा रहा है कि यदि सरकार की ओर से फसलों की सुरक्षा के लिए स्थाई कदम उठाये तो आने वाले दिनों में स्थानीय व पारम्परिक फसलों के उत्पादन में भारी बढ़ोतरी हो सकती है। जानकारों का कहना है कि यदि सरकार की ओर से काश्तकारों की इन फसलों को जंगली जानवरों से बचाने के लिए और फसल उत्पादन के लिए कोई कारगर कदम उठाये जाते हैं तो यह फसलें काश्तकारों की आर्थिकी ही बदल सकते है।

About saket aggarwal

Check Also

हल्द्वानी: ओवरहैड टैंक निर्माण को वित्त मंत्री से मिले

पार्षद के नेतृत्व में मिले लोगों ने केदारपुरम डी क्लास व खन्ना फार्म में पेयजलापूर्ति …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *