Home / Breaking News / गजेन्द्र राणा के दिलकश गीतों ने जमाया रंग

गजेन्द्र राणा के दिलकश गीतों ने जमाया रंग

मोटाहल्दू। तराई भाबर महोत्सव में गजेंद्र राणा की शानदार प्रस्तुतियों के साथ समापन हो गया। इस दौरान कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पूर्व मुख्य मंत्री हरीश रावत एवं हरीश दुर्गापाल ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्जवलित किया। कार्यक्रम में पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि उत्तराखंड की लोक संस्कृति को बचाए रखने के लिए इस प्रकार के कार्यक्रम के आयोजित होते रहना सौभाग्य की बात है साथ ही क्षेत्रीय लोगों को भी लोक सांस्कृतिक कार्यक्रमों में बढ़-चढक़र हिस्सा लेना चाहिए ताकि पर्वतीय संस्कृति बची रहे। महोत्सव में पहुंचे पूर्व काबीना मंत्री हरीश चंद्र दुर्गापाल ने कहा कि पर्वतीय संस्कृति हमारी विरासत है। पर्वतीय संस्कृति को विश्व पटल पर विशेष सम्मान प्राप्त है क्योंकि यह देवभूमि की संस्कृति है। उन्होंने कहा कि इस प्रकार के आयोजन हमारी संस्कृति, लोक कला, लोक संगीत, लोक गायन, लोक वाद्य यंत्रों के प्रदर्शन के सफल एवं उचित मंच है। इस भौतिकवादी युग में हम अपनी कला और संस्कृति से विमुख होते जा रहे हैं हमें अपनी कला व संस्कृति को संरक्षित रखते हुये युवा पीढ़ी को सौंपना है। उन्होंने आयोजकों को इस सफल आयोजन की बधाई दी। इस दौरान एनके कपिल, मोहन लोशाली, कमलेश चंदोला, डॉ. बालम सिंह बिष्ट, विक्की पाठक, अनिल पांडे, कैलाश गोला, सीमा पाठक, संध्या डालाकोटी, इन्द्रलाल, सुरेश जोशी, अशोक पढालनी, गौरव धारियाल, रमेश चन्द्र जोशी, चन्द्रशेखर पंत, विपिन जोशी समेत तमाम लोग उपस्थित थे। महोत्सव में लोक कला समिति रामनगर की टीम ने तमाम रंगारंग कार्यक्रमों की प्रस्तुतियां दी।

 

 

कुमाऊंनी गीतों पर खूब थिरके दर्शक
कुमाऊंनी गीत संध्या की शुरुआत उत्तराखण्ड के लोक गायक गजेंद्र राणा ने भगवान कैलाश महादेवा शम्भू भगवाना व नौ बैनो की दुर्गा तेरी पूजा करूंला भजन के साथ की। इसके बाद गजेंद्र राणा ने बबली तेरो मोबाइल, वां बे तेरी स्माइल, पुष्पा छोरी पौड़ी खाले की लागदि छै तू बड़ कमाल की, फुर्की बान, प्रस्तुतियां देकर सभी दर्शकों को झूमने पर मजबूर कर दिया। गजेंद्र राणा के गीतों ने दर्शकों का खूब मनोरंजन किया।

About saket aggarwal

Check Also

हल्द्वानी: सरकारी अस्पतालों को पीपीपी मोड पर देने का विरोध

नर्सेज की सरकारी नियुक्तियों की मांग, सीएम का फूंका पुतला हल्द्वानी। उत्तराखंड नर्सेज एसोसिएशन सदस्यों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *