Home / Breaking News / गैंगरेप पीडि़ता बोली- बीजेपी विधायक ने मेरे बाप को मरवा दिया, योगी से नहीं मिला इंसाफ
रेप पीड़िता

गैंगरेप पीडि़ता बोली- बीजेपी विधायक ने मेरे बाप को मरवा दिया, योगी से नहीं मिला इंसाफ

लखनऊ (एजेंसी)। यूपी की राजधानी लखनऊ में मुख्यमंत्री आवास के सामने आत्मदाह की कोशिश करने वाली रेप पीडि़ता के पिता की मौत हो गई है। पीडि़ता ने बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर गैंगरेप के बाद अपने पिता पर मारपीट का आरोप लगाया है, जिसके बाद उनकी मौत हो गई। आजतक को दिए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में पीडि़ता ने बीजेपी विधायक पर गंभीर इल्जाम लगाए हैं।
पीडि़ता ने आजतक को बताया, ‘ये घटना 4 जून 2017 की है। यह रात 8 बजे की घटना है। एक महिला हमें विधायक कुलदीप सेंगर के पास ले गई थी। जो बीजेपी के नेता हैं। जहां उन्होंने मेरे साथ रेप किया।’

विरोध करने पर दी धमकी
पीडि़ता ने बताया कि जब उन्होंने बीजेपी विधायक से रेप का विरोध किया तो उसने परिवार वालों को मारने की धमकी दी। उन्होंने बताया कि जब वो थाने में गई तो एफआईआर नहीं लिखी गई। इसके बाद तहरीर बदल दी गई।

योगी से मिली, पर नहीं मिला इंसाफ
पीडि़ता ने बताया, ‘मैं जून 2017 में योगी जी से मिली थी। उन्होंने कहा था कि बेटा इंसाफ मिलेगा। लेकिन एक साल हो चला है और अब तक कुछ नहीं हुआ। मैंने हर जगह तहरीर भेजी लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। पूरा प्रशासन उसी (बीजेपी विधायक) के हाथ में है।’

पुलिस की मौजूदगी में भी मारा
पीडि़ता ने बताया कि उनके पापा छोटे बच्चे को देखने के लिए घर आए थे। जिसके बाद विधायक के लोगों ने मेरे पिता को बहुत मारा। पीडि़ता ने बताया, ‘पुलिस पहुंच गई तब भी उन्होंने मेरे पापा को मारा। हमारा दरवाजा खोलकर पापा को घसीटकर ले गए और खूब पिटाई की। पीटने के बाद उन्हें अपने घर के बाहर फेंक दिया।’
इसके आगे उन्होंने बताया, ‘मैं अपने पापा को जिंदा देखने के लिए उन्नाव लेकर चली आई लेकिन मैं अपने पिता को जिंदा नहीं देख सकी। मैं कल योगी जी के आवास पर लखनऊ गई। अगर कल आग लगा लेती तो आज ये दुख न देखती।’

हमें भी गोली मार दो
पीडि़ता ने बताया कि वह चार बहन हैं और ऐसे में कहां जाएंगी। रोते हुए उसने बताया, ‘उन्हें (विधायक और उसके समर्थकों को) बुला लो हमें भी गोली मार दे। उसने पूरा थाना खरीद रखा है। थाने वाले अतुल-कुलदीप का नाम निकाल देते हैं। हमारे चाचा कोई अपराध नहीं करते, वे तो दिल्ली में रहते हैं, उनपर आरोप लगाते हैं। पुलिस से अरेस्ट करवाते हैं।’

पुलिस का बयान
डीआईजी लॉ एंड ऑर्डर ने बताया कि पप्पू उर्फ सुरेंद्र की न्यायिक हिरासत में मौत हुई है। इसके न्यायिक जांच के आदेश दिए गए हैं। यदि इस मामले में पुलिस की कोई भी लापरवाही सामने आई, तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

About saket aggarwal

Check Also

तराई-भाबर में निजी बसों का संचालन पूरी तरह ठप

केमू की हड़ताल का तीसरा दिन, समर्थन में आये कुमाऊं भर के निजी बस संचालक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *