Breaking News
Home / Uttatakhand Districts / Almora / जल्द होगा सुमग से दुर्गम में शिक्षकों का तबादला, शिक्षा विभाग जुटा कसरत में

जल्द होगा सुमग से दुर्गम में शिक्षकों का तबादला, शिक्षा विभाग जुटा कसरत में

अल्मोड़ा। शिक्षा विभाग में इन दिनों तबादला एक्ट को लेकर विद्यालयों के कोटिकरण को लेकर कसरत चल रही है। हालांकि, नये मानकों के अनुसार कोटिकरण में विद्यालयों को अंकन देने में विभाग के पसीने छूट रहे है। क्योंकि विद्यालय को निर्धारित गुणांक के आधार पर कोटिकरण में अंकन करने में विषम भौगोलिक परिस्थिति के कारण असमंजस्य की स्थिति उत्पन्न हो रही है। इस मर्तबा महज 377 विद्यालय ही तय मानकों के अनुसार दुर्गम श्रेणी में आए जबकि, मानकों की अर्हता पूरी नहीं होने पर 206 विद्यालयों को सुगम से हटाकर विभाग ने नए मानकों के आधार पर दुर्गम श्रेणी में कर दिया है।
मालूम हो कि सरकार ने पिछले दिनों सुगम विद्यालयों में काफी दिनों से पालती मारे बैठे शिक्षकों की मिल रही शिकायतों का संज्ञान लेते हुए नए मानक निर्धारित करते हुए तबादला एक्ट निकाल जिलेवार सूची निकालने का आदेश पारित किया था। जिसके बाद हरकत में आए शिक्षा विभाग ने जिले में कुल 1791 विद्यालयों (प्राथमिक-जूनियर हाईस्कूल) का विद्यालय ब्लाॅकवार नए तबादला एक्ट के मानकों के अनुसार गुणांकों का निर्धारण कर विद्यालयों के कोटिकरण की प्रक्रिया शुरू की। जिसमें प्राथमिक एवं जूहा मिला के करीब तय गुणांकों के आधार पर जिले में 377 विद्यालय दुर्गम श्रेणी के विद्यालय चिह्नित हुए और 1414 विद्यालय सुगम श्रेणी में आ गए। इस बार कोटिकरण के नए मानकों के अनुसार जिले के करीब 206 विद्यालय सुमग श्रेणी से हट दुर्गम श्रेणी में आ गए है। इसके बाद अब शिक्षा विभाग सुगम से दुर्गम तबादले को लेकर ब्लाॅक वाईज अध्यापकों के प्रोफाइल का अंकन कर अवरोही क्रम में सूची तैयार करेंगा। हालांकि, नए मानकों के अनुसार तबादले की जद में आए कई विद्यालयों के शिक्षक अभी से अपनी अपत्तियां दर्ज कराने पर आमदा है। इधर मुख्य शिक्षा अधिकारी जगमोहन सोनी ने बताया कि निदेशालय से मिले आदेशों के अनुसार नौ बिंदुओं के आधार पर विद्यालयों का कोटिकरण कर दिया गया है। जिसे अब प्रदेश स्तरीय वेब प्रोर्टल पर डालने की प्रक्रिया की जा रही है। इसके बाद समस्त बीईओ अपने अपने ब्लाॅक के विद्यालयों के कोटिकरण के आधार पर चिह्नित विद्यालयों के शिक्षकों का प्रोफाइल का तय मानकों के आधार पर अंकन करेंगे। तत्पश्चात सुगम से दुर्गम विद्यालयों में शिक्षकों का तबादला किया जाएगा। वहीं, डीईओ बेसिक राय साहब यादव ने बताया कि अभी सुगम से दुर्गम शिक्षकों के तबादले की प्रक्रिया की जा रही है। इसके बाद दुर्गम से सुगम में स्थानांतरण फिर अनुरोध के आधार पर निर्धारित मानकों के आधार पर शिक्षकों का स्थानांतरण किया जाएगा।
तबादले केे नए मानक क्या कहते है
अल्मोड़ा। सुगम से दुर्गम में हो रहे शिक्षकों के तबादलेे में नए मानकों के अनुसार सुगम विद्यालयों में चार से अधिक से दस साल से अधिक तैनात शिक्षकों का विद्यालय में ठहराव के आधार पर ब्लाॅक स्तर पर अवरोही क्रम में सूची तैयार की जा रही हैं। जिसमें शिक्षकों का नए मानकों के आधार पर जिला स्तरीय समीक्षा कमेटी की संस्तुतियों के बाद सुगम से दुर्गम में तबादला किया जाएगा।
विद्यालय कोटिकरण के नए मानक
कार्यस्थल विद्यालय की दूरी, सड़क मार्ग की सुविधाएं, चिकित्सा सुविधाएं, बैंक पोस्ट आॅफिस की सुविधाएं, बच्चों के लिए शिक्षण संस्थाएं, काॅमर्शियल सेंटर, सामान्य जन सुविधाएं, समुद्र तल से ऊॅचाईं, रेवले स्टेशन के कार्यस्थल की दूरी

About saket aggarwal

Check Also

छात्रसंघ पदाधिकारियों ने डोईवाला कोतवाल के खिलाफ शिकायत की

डोईवाला/ब्यूरो। डोईवाला डिग्री कॉलेज के नवनिर्वाचित छात्रसंघ पदाधिकारियों ने उपजिलाधिकारी के माध्यम से वरिष्ठ पुलिस …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *