Home / Breaking News / हल्द्वानी: दिनों-दिन बढ़ रहा हादसों का ग्राफ, कुंभकर्णी नींद से नहीं जाग रहा पुलिस व परिवहन विभाग

हल्द्वानी: दिनों-दिन बढ़ रहा हादसों का ग्राफ, कुंभकर्णी नींद से नहीं जाग रहा पुलिस व परिवहन विभाग

सलीम खान, हल्द्वानी। सड़क हादसों को लेकर हर बार प्रशासन द्वारा यातायात के नियमों का कड़ाई से अनुपालन की बात कही जाती रही है। पर हादसे रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं। तराई के इलाकों में छुटपुट हादसे हर रोज होते ही रहते हैं पर पहाड़ के इलाकों में हादसों का ग्राफ बढ़ता जा रहा है। अभी साल 2018 की शुरुआत ही हुयी है, चंपावत के स्वाला में बड़े हादसे सहित अन्य जगह हुए हादसों में 20 लोगों ने अपनी जान गंवाई है, जबकि 12 से ज्यादा लोग घायल हो चुके हैं। आंकड़ों पर नजर दौड़ाएं तो पिछले दो साल से हादसों का ग्राफ बढ़ता जा रहा है। उधर बढ़ते सड़क हादसों को लेकर आईजी कु माऊं पूरन सिंह रावत ने मातहतों की बैठक में इस पर अंकुश को निर्देश दिए थे। उनका कहना था कि पहाड़ी क्षेत्रों में अक्सर हादसे शाम छह से नौ बजे के दौरान होते हैं। आईजी के निर्देश पर पुलिस-प्रशासन थोड़ा बहुत जागा और उसने कुछ दिन सघन चेकिंग अभियान भी चलाया। लेकिन फिर अभियान को लेकर मातहत कुंभकर्णी नींद में सो गये जिसका फायदा प्राइवेट वाहन चालक देर सायं व भोर से पहले ही पहाड़ी क्षेत्रों में वाहनों को दौड़ा कर उठा रहे हैं।
कुमाऊं मंडल में साल दर साल हादसों का बढ़ता ग्राफ इस बात की गवाही दे रहा है। इस क्रम में जहां 2015 में मंडल में 609 हादसे हुए थे, वहीं 2017 में इनकी संख्या बढ़कर 669 जा पहुंची है। अगर आगे भी हादसों की रफ्तार इसी तरह रही तो आने वाले दिनों में चंपावत से भी बड़े कई हादसे हो सकते हैं।

 

वर्ष हादसे मौत घायल
2015 606 395 476
2016 665 440 557
2017 672 428 555
आंकड़ों पर नजर दौड़ाएं तो इन हादसों में सबसे ज्यादा हादसे जनपद उधम सिंह नगर व नैनीताल में हुए हंै।

About saket aggarwal

Check Also

रुद्रपुर:नगर आयुक्त से भिड़ी महिलाएं

रुद्रपुर। सिब्बल सिनेमा रोड पर मलबा उठाने आई निगम की टीम को महिलाओं ने घेर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *