Home / Uttatakhand Districts / Dehradun / हंस कल्चरल सेंटर ने दी एंबुलेंस व स्कूल बसें

हंस कल्चरल सेंटर ने दी एंबुलेंस व स्कूल बसें

राज्यपाल ने वाहनों को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना
शिक्षा व स्वास्थ्य में हंस फाउंडेशन का अहम योगदान: डा केके पॉल
उत्तरकाशी व चमोली में भी स्थापित होंगे आईसीयू : माताश्री मंगला
देहरादून। हंस कल्चरल सेंटर ने प्रदेश में सेवा व सहयोग मुहिम को आगे बढ़ाते हुए इंडियन रेड क्रॉस सोसायटी, उत्तराखंड को बोलेरो जीप (मिनी एम्बुलेंस), देवभूमि शिक्षा प्रसार समिति किच्छा व राजेश्वरी करूणा स्कूल धनोल्टी को 30 सीटर स्कूल बसें और पिथौरागढ़ आपात सेवा ट्रस्ट को दो एम्बुलेंस प्रदान की है।
मंगलवार को राजभवन में आयोजित संक्षिप्त कार्यक्रम में राज्यपाल डॉ कृष्ण कांत पाल ने हंस कल्चरल सेंटर की ओर से सामाजिक कार्यों के लिए उपलब्ध करवाए गए वाहनों को फ्लेग ऑफ किया। इस अवसर पर लेडी गर्वनर श्रीमती ओमिता पाल, हंस फाउंडेशन और हंस कल्चरल सेंटर की प्रणेता माताश्री मंगला, भोले जी महाराज, वित्त मंत्री प्रकाश पंत व उच्च शिक्षा मंत्री डा धन सिंह रावत भी उपस्थित थे। हंस कल्चरल सेंटर द्वारा जनकल्याणकारी कार्यों के लिए इंडियन रेड क्रॉस सोसायटी उत्तराखंड को मिनी एम्बुलेंस, देवभूमि शिक्षा प्रसार समिति किच्छा व राजेश्वरी करूणा स्कूल धनोल्टी को स्कूल बसें और पिथौरागढ़ आपात सेवा ट्रस्ट को दो एम्बुलेंस प्रदान की।
राज्यपाल ने राजभवन के प्रांगण में इस शुभ कार्य के आयोजन के लिए आभार व्यक्त करते हुए कहा कि भारत संत-महात्माओं की भूमि है। हमारे इतिहास व धर्मग्रन्थों में ऐसे महापुरूषों के अनगिनत उदाहरण हैं, जिन्होंने समाज व दूसरों के लिए अपना सर्वस्व न्यौछावर कर दिया। माता श्री मंगला व भोले जी महाराज, भारतीय संस्कृति की इसी महान परम्परा को आगे बढ़ाते हुए लाखों लोगों के जीवन में रोशनी फैला रहे हैं।
राज्यपाल ने कहा कि अपेक्षाकृत नवोदित राज्य उत्तराखंड में यहां की कठिन भौगोलिक परिस्थितियों के कारण इंफ्रास्ट्रक्चर के विकास में अनेक बाधाएं आती हैं। राज्य सरकार अपने स्तर पर भरसक प्रयास कर रही है। हंस फाउंडेशन राज्य में विकास के गैप को भरने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। उत्तराखंड के विकास में हंस फाउंडेशन राज्य सरकार के साथ सक्रिय पार्टनरशिप निभा रहा है। खास तौर पर शिक्षा व स्वास्थ्य के क्षेत्र में सराहनीय काम किया गया है। पौड़ी गढ़वाल के सतपुली में हर प्रकार की आधुनिक सुविधाओं से युक्त हंस जनरल अस्पताल, हरिद्वार में हंस फाउंडेशन आई-केयर, मोबाइल हेल्थ क्लिनिक से राज्य के लोगों को स्वास्थ्य के क्षेत्र में बड़ी राहत मिली है। बच्चों के स्कूल आने जाने के लिए लगातार स्कूल बसें भी प्रदान की जा रही हैं।
माता श्री मंगला ने राज्यपाल का आभार व्यक्त करते हुए बताया कि हंस फाउंडेशन द्वारा देश के 22 राज्यों में जनकल्याणकारी काम किए जा रहे हैं। उत्तराखंड में शिक्षा व स्वास्थ्य की सुविधाएं विकसित करने पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। हाल ही में पिथौरागढ़ में आईसीयू स्थापित किया है। जल्द ही उत्तरकाशी व चमोली में भी आईसीयू स्थापित किए जाएंगे।

About madan lakhera

Check Also

ऊर्जा का संरक्षण भविष्य की जरूरत

उरेडा ने मनाया अंतरराष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस प्रदर्शनी से दी ऊर्जा दक्ष उपकरणों की जानकारी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *