Home / Breaking News / हरिद्वार: सैन्य सम्मान के साथ दी गयी अंतिम सलामी, शहीद पंच तत्वों में विलीन

हरिद्वार: सैन्य सम्मान के साथ दी गयी अंतिम सलामी, शहीद पंच तत्वों में विलीन

परिजन बोले, एक सिर के बदले दस सिर का वायदा आखिर क्या हुआ
आखिर कब तक सीमा से आते रहेंगे शहीद, 56 इंच का सीना आखिर कहां है
परमाणु सम्पन भारत अब करे पाकिस्तान से आर-पार की लड़ाई
हरिद्वार: जम्मू कश्मीर के सुंजवां में शहीद हुए देहरादून के राकेश चंद्र रतूड़ी का सैनिक सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई। शहीद के बेटे ने मुखाग्नि दी। खडख़ड़ी श्मशान घाट पर गम और गुस्सा दोनों दिखा। पंच तत्वों में शरीर के विलीन होने के बाद परिजनों ने मीडिया से कुछ पल के लिए बातचीत की। वहीं, ब्रिगेडियर एमएस जग्गी ने कहा कि जल्द ही पाकिस्तान को मुंह तोड़ जवाब दिया जाएगा जबकि परिजनों ने कहा, कब तक सीमा पर देश के वीर शहादत देते रहेंगे। एक सिर के बदले दस सिर कहाँ है। सरकार जवाब दे। परमाणु संपन्न देश भारत को आर-पार की लड़ाई अब लडऩी चाहिए।
शहीद राकेश चंद्र रतूड़ी का पार्थिव शरीर खडख़ड़ी श्मशान घाट पहुँचा। शहीद के अंतिम विदाई पर बड़ी तादाद में राजनीतिक, प्रशासनिक और पुलिस सहित आम नागरिक पहुंचे। शहीद राकेश को सभी ने श्रद्धा सुमन अर्पित किए। सेना के अधिकारियों ने अंतिम सलामी दी। इस दौरान परिजनों ने कुछ पल मीडिया से बात की। शहीद राकेश चंद्र रतूड़ी के भाई देवकीनंदन रतूड़ी ने पूछा एक सिर के बदले दस सिर लाने का वायदा क्या हुआ। उन्होंने 56 इंच के सीने का दावा करने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी तंज कसा। शहीद के चाचा शेखरानंद ने कहा कि यह बात समझ में नहीं आ रही कि सीमा पर हर दिन चार-पांच जवान शहीद हो रहे। भारत के परमाणु सम्पन्न देश होने का क्या फायदा है। अब बहुत हो चुका, आर-पार की लड़ाई का ऐलान होना चाहिए। सेना का मनोबल बयान से नहीं, जवाबी बडी कार्रवाई कर करनी चाहिए। अब एक सिर के बदले दस सिर मांग रहा है शहीद परिवार और पूरा देश। इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चंद अग्रवाल, मेयर मनोज गर्ग, जिलाधिकारी दीपक, एसएसपी कृष्ण कुमार वीके, कर्नल जेबी सिंह, कैप्टन राहुल, आदि मौजूद रहे।

About saket aggarwal

Check Also

तिवारी का अंतिम संस्कार कल, पुलिस मुस्तैद

हल्द्वानी। पूर्व सीएम नारायण दत्त तिवारी के अन्तिम दर्शन/अन्तेष्टि हेतु सुरक्षा एवं यातायात व्यवस्था को …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *