Home / Breaking News / लोहाघाट:हे भगवान, सीएचसी लोहाघाट में रक्तचापमापी यंत्र तक खराब
परिचय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लोहाघाट।

लोहाघाट:हे भगवान, सीएचसी लोहाघाट में रक्तचापमापी यंत्र तक खराब

लोहाघाट। यहां की बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था सुधरने का नाम नहीं ले रही है। लोहाघाट, पाटी व बाराकोट विकास खंड के दूरस्थ गांवों का एक मात्र सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में चिकित्सकों की कमी के कारण रैफर सेंटर बन कर रह गया है। हालात यह हैं कि यहां ना तो मरीजों को दवा मिल पाती है ना ही बेहरत उपचार। जिस कारण लोगों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। कागजों में अस्पताल में स्टॉफ दर्शाया गया है। परंतु धरातल में एक-दो चिकित्सकों के भरोसे अस्पताल को चलाया जा रहा है।
रविवार देर रात मरीज लेकर पहुंचे लोगों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ा। नेपाल सीमा से लगे मडलक से पहुंचे प्रकाश राम, गिरीश राम, हयात राम, दिगौलीचैड़ से पहुंची मुन्नी देवी, राय नगर चैड़ी से पहुंचे सुनीता देवी, संजय राय, दीपक राय आदि ने बताया कि अस्पताल प्रशासन के पास रक्तचापमापी यंत्र तक खराब पड़ा है। एक मरीज का बीपी नापने में स्टॉफ को कई बार रक्तचापमापी यंत्र के कलपुर्जों को कसना व खोलना पड़ा। मरीजों के पूछे जाने दूसरा रक्तचापमापी यंत्र न होने की बात सामने आई। यहीं हाल दवाओं का है यहां बुराख, दर्द व अन्य छोटी मोटी दवाओं के अलावा कोई भी दवा उपलब्ध नहीं है। लोगों को बाहर से दवा खरीदने पर मजबूर होना पड़ रहा है। लोगों का कहना था कि यदि कोई बड़ी घटना हो जाए तो अस्पताल में कोई ऐसी दवा या चिकित्सक तैनात नहीं है जो मरीज को बचा सकें। महिलाओं की डिलीवरी का जिम्मा भी स्टॉफ नर्स के हाथों में है। लोगों शासन प्रशासन से अस्पताल में चिकित्सकों की नियुक्ति व अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराने की मांग की है। इधर सीएमएस डॉ मंजीत सिंह का कहना है कि अस्पताल की व्यवस्था व सुविधा के अनुसार लोगों का उपचार किया जा रहा है। जहां तक रक्तचापमापी यंत्र के खराब होने की बात है, कभी-कभी यंत्रों में तकनीकी खराबी आ जाती है।

About saket aggarwal

Check Also

शहरों में सरकार के लिए दे रहे अग्निपरीक्षा

मदन मोहन लखेड़ा, देहरादून। निकाय चुनाव की जंग में आज ‘मतदान’ का दिन है। प्रदेश के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *