Home / Breaking News / हल्द्वानी : जनता के स्वास्थ्य से खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं

हल्द्वानी : जनता के स्वास्थ्य से खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं

हल्द्वानी। जनता को बेहतर चिकित्सा सुविधा देना सरकार की प्राथमिकता है। चिकित्सकों की लापरवाही व चिकित्सालयों में मरीजों को दवा उपलब्ध ना होना गम्भीर बात है। इससे एक ओर जहां मरीजों को उचित उपचार नहीं मिल पाता है व आर्थिक बोझ भी झेलना पड़ता है वहीं सरकार की छवि भी धूमिल होती है। इसलिए चिकित्सा सेवा से जुड़े सभी चिकित्सक व स्टाफ संजीदगी व सेवा भाव से कार्य करें। किसी भी प्रकार की हीलाहवाली बर्दाश्त नहीं की जायेगी। यह बात जिलाधिकारी सविन बंसल ने सोबन सिंह जीना अस्पताल व राजकीय महिला चिकित्सालय की प्रबन्ध समिति की बैठक लेते हुए चिकित्साधिकारियों से कही।
कहा कि गत सप्ताह बेस चिकित्सालय के निरीक्षण के दौरान दिये गये निर्देशों का अनुपालन करते हुये खामियां दूर करें तथा जो उपकरण व दवायें चिकित्सालय में नहीं हैं अथवा खराब हैं उनकी खरीद अथवा मरम्मत शीघ्र करायें ताकि मरीजों को किसी भी प्रकार की असुविधा न हो। उन्होंने कहा कि वे शीघ्र ही चिकित्सालयों का निरीक्षण करेेंगे अब किसी प्रकार की खामियंा पायी गईं अथवा शिकायत मिली तो कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जायेगी। विगत निरीक्षण दौरान जैनेरिक दवाएं न लिखने व बाहर से दवाएं लिखने पर डा. सीएस भट्ट को प्रतिकूल प्रविष्टि दे दी गई है साथ ही बाल रोग विशेषज्ञ डा. एसएस बिष्ट को भी बाहर से दवा लिखने पर चेतावनी दी गयी है। जिस पर दोनों चिकित्सकों द्वारा अपनी गलती स्वीकार करते हुए पुनरावृत्ति न करने का लिखित दिया गया है।
उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी व इस हेतु डा. रश्मि पंत को पत्र लिखने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा मुख्य चिकित्साधिकारी व सभी चिकित्सालय आपसी समन्वय स्थापित करते हुए सभी चिकित्सालयों में बेहतर चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें।
बैठक में नगर आयुक्त सीएस मर्तोलिया, प्रमुख चिकित्साधिकारी बेस डा. हरीश लाल, महिला डा. भागीरथी जोशी, डिप्टी सीएमओ डा. एमएम तिवारी, मुख्य शिक्षाधिकारी केके गुप्ता, कोषाधिकारी हल्द्वानी सहित अन्य चिकित्सक व स्टाफ मौजूद थे।

दवाओं की उपलब्धता ऑनलाइन
हल्द्वानी। जिलाधिकारी ने दोनों चिकित्सालयों में एक सितम्बर तक पूछताछ व वार्ड मेें शिकायत पंजिका रखने, शिकायत हेतु फोन नम्बर दीवारों पर लिखवाने तथा औषधि भंडार में उपलब्ध दवाओं को प्रतिदिन ई-पोर्टल पर ऑनलाइन अपलोड कराने व दवाओं का ऑन लाइन प्रदर्शन कराने के निर्देश चिकित्साधिकारियों को दिये हैं। साथ ही एक सितम्बर तक कम्प्यूटर आपरेटर पैथलॉजी तकनीशियन तैनात करते हुए लैब को 12 घंटे चलाने के निर्देश भी दिये ताकि मरीजों को जांच हेतु भटकना न पड़े।

 
महिला चिकित्सालय में खरीदे जायेंगे उपरण
हल्द्वानी। महिला चिकित्सालय हेतु एक लाख 19 हजार के 18 प्रकार के चिकित्सा उपकरण खरीदने की स्वीकृति दी गई। साथ ही बेस चिकित्सालय में नलकूप मरम्मत, ओपीजी मशीन, एक्सरे मशीन, आर्थो ओटी टेबल, तीन एसी, ब्लड डोनर का चेज, छोटी दांतों की मशीन, 25 बैंच आदि जैम पोर्टल से खरीदने की स्वीकृति के साथ ही कार्यालय व्यय हेतु 6.34 लाख भोजन व्यय हेतु 1.21 लाख, सीटी स्कैन मशीन बैट्री खरीदने हेतु 2.83 लाख, तत्काल जीवन रक्षक दवाएं खरीदने हेतु 50 हजार, सर्जिकल सामग्री हेतु 25 हजार की स्वीकृति दी गई। जिलाधिकारी ने कहा कि बेस चिकित्सालय को शीघ्र एक नई एम्बुलेंस दी जायेगी।

About saket aggarwal

Check Also

हल्द्वानी: पुलिस कर्मियों के सामने ‘बेघर’  होने का संकट

कोतवाली में बैरक खाली करने के फरमान से मची खलबली सलीम खान हल्द्वानी। जहां एक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *