Home / Breaking News / हल्द्वानी : जिजीविषा की अमिट पहचान बनूं…

हल्द्वानी : जिजीविषा की अमिट पहचान बनूं…

हल्द्वानी। एमबी राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय के हिंदी विभाग द्वारा मंगलवार को नवांकुर कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस दौरान विभाग के पूर्व छात्र अभिजात कांडपाल निडर के पहले कविता संग्रह बीज रिश्तों के… पर चर्चा और कविता पाठ का आयोजन हुआ। इस दौरान विभागाध्यक्ष हिंदी डॉ. विमला सिंह ने कहा कि अभिजात की कविताएं सरल और सहज होने के साथ ही मनोवैज्ञानिकता के धरातल पर भी खरी उतरती हैं। डॉ. बीना मथेला ने कहा कि कवि कविता लेखन से समाज की दशा और दिशा तय करता है। वहीं, अभिजात ने सुनाया कि परेशानी! राह रोकने आओ तो, जिजीविषा की अमिट पहचान बनूं…, इस दौरान डॉ. दीपा गोबाड़ी, डॉ. प्रभा पंत, डॉ. संतोष मिश्रा, डॉ. आशा हरबोला, भवान सिंह, सुमित्रा आर्य सहित कई विद्यार्थी मौजूद रहे। संचालन डॉ. जयश्री भंडारी व धन्यवाद ज्ञापन डॉ. चंद्रा खत्री ने किया।

About saket aggarwal

Check Also

हल्द्वानी : आर्यसमाज में विश्व कल्याण यज्ञ

हल्द्वानी। आर्यसमाज के वेद प्रचार एवं विश्व कल्याण यज्ञ के दूसरे दिन प्रात:कालीन सत्र में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *