Breaking News
Home / Breaking News / केदारनाथ धाम में जमकर हुई बर्फबारी

केदारनाथ धाम में जमकर हुई बर्फबारी

बर्फबारी के चलते पुनर्निर्माण कार्य प्रभावित
रुद्रप्रयाग। मौसम के अचानक करवट लेने से हिमालयी क्षेत्रों में जमकर बर्फबारी और निचले क्षेत्रों में बारिश हो रही है। मौसम में आये परिवर्तन से एक बार ठंड फि र लौट के आई है। वहीं बर्फबारी और बारिश के बाद काश्तकारों ने भी राहत की सांस ली है। बारिश के बाद गेहूं की फसल को नई ऊर्जा मिली है। केदारनाथ धाम की बात करें तो केदारनाथ में सुबह से बर्फबारी जारी हो गई थी। जो कि रात तक जारी थी। बर्फबारी से केदारनाथ धाम में चल रहे पुनर्निर्माण कार्य भी रुक गये हैं। इधर, राजधानी देहरादून में बारिश का दौर चला। दोपहर तक रिमझिम बारिश का सिलसिला चला।
पहाड़ों में एक बार फिर से मौसम में परिवर्तन आ गया है। हिमालयी क्षेत्रों में बर्फ बारी शुरू होने से ठंड लौट के आई है। केदारनाथ धाम में भी जमकर बर्फ बारी हो रही है। बर्फ बारी से केदारनाथ में ठंड भी बढ़ गई है। इसके साथ ही केदारनाथ में चल रहे पुनर्निर्माण कार्य भी रुक गये हैं। फ रवरी के महीने में केदारनाथ में तीसरी बार बर्फबारी हुई है। बर्फ बारी के बाद पूरी केदारपुरी सफेद नजर आ रही है। चारों ओर बर्फ ही बर्फ दिखाई दे रही है। सुबह से केदारनाथ में बर्फबारी जारी हो गई थी। बर्फबारी से केदारनाथ में पैदल चलने वाले रास्ते भी बंद हो गये हैं। वहीं शिव पार्वती विवाह स्थल त्रियुगीनारायणए द्वितीय केदार मदमहेश्वर, तृतीय केदार तुंगनाथ, पर्यटक स्थल चोपता, बधाणीताल, दुगलविट्टा आदि क्षेत्रों में भी बर्फबारी हुई है।
बर्फबारी और बारिश होने के बाद काश्तकारों ने भी राहत की सांस ली है। बारिश से गेहंू की फ सल को जान मिली है। इसके साथ ही पहाड़ों में ठंड लौट के आई है। जगह-जगह लोग अलाव का सहारा लेते दिखाई दे रहे हैं। बर्फबारी के कारण केदारनाथ में चल रहे पुनर्निर्माण कार्य फि र से प्रभावित हो गये हैं। केदारनाथ धाम में इन दिनों जोर से पुनर्निर्माण कार्य चल रहे हैं। यात्रा शुरू होने से पहले किसी भी हाल में कार्य पूरे होने हैं, लेकिन बर्फबारी के कारण कार्य करने में बाधा पहुंच रही है।

About saket aggarwal

Check Also

पंतनगर:कुमाऊं राइफल्स ने पंतनगर विश्वविद्यालय के साथ मनाया शेरॉन दिवस

पंतनगर। पंतनगर विश्वविद्यालय के गांधी हाल में आज अपराह्न में कुमाऊं राइफल्स ने फिलिस्तीन के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *