Home / Uttatakhand Districts / Tehri Garhwal / बागवानी से ग्रामीण देेंगे पलायन को मात

बागवानी से ग्रामीण देेंगे पलायन को मात

ख्यार्सी के लोगों ने कुंदन पंवार से सीखे उद्यानिकी के गुर
पंचायत के 8 हेक्टेयर में बागवानी के लिए कसी कमर
जलागम के माध्यम से लगा चुके 22 सौ अनार के पेड़
मुकेश रावत
थत्यूड़ (टिहरी)। क्षेत्र की ग्राम पंचायत ख्यार्सी बागवानी के क्षेत्र में कदमताल करने को तैयार है। पंचायत के ग्रामीणों ने घर में ही रहकर बागवानी के जरिए पलायन को मात देने की ठान ली है। इसके लिए ग्राम प्रधान जनक सिंह बिष्ट की पहल पर उद्यानिकी के पंडित कुंदन सिंह पंवार ने गांव वालांे को सफल बागवानी के गुर देकर प्रोत्साहित किया है। ख्यार्सी क्षेत्र के लोग अब शुरुआती चरण में 8 हेक्टेयर में बागवानी करने के लिए जुट गए हैं।


ग्राम प्रधान जनक सिंह बिष्ट के अनुसार पारंपरिक खेती में हाड़ तोड़ मेहनत के बावजूद ग्रामीणों को उनकी मेहनत लाभ भी नहीं मिल पा रहा है। आर्थिक संसाधनों की कमी के चलते क्षेत्र के युवा व ग्रामीण अन्य क्षेत्रों में जा रहे है। इसे देखते हुए अब पंचायत में बागवानी के जरिए आर्थिक संसाधन विकसित करने के साथ ही पलायन की रोकथाम के प्रयास शुरु किए गए हैं। इन प्रयासों को आगे बढ़ाते हुए ख्यार्सी के लोगों ने उद्यान पंडित कुन्दन सिंह पंवार से आर्थिक तौर पर लाभकारी उद्यानिकी जानकारी हासिल कर बागवानी के गुर सीखें हैं। इस मौके पर ख्यार्सी के प्रधान जनक सिंह बिष्ट, जगमोहन सिंह बिष्ट, शुरबीर सिंह रांगड, भोला सिंह बिष्ट, विजय बिष्ट, राजेन्द्र बिष्ट, आनन्द सिंह रांगड, सुरेन्द्र रांगड, राजेन्द्र सिंह रौछेला, सूरज बिष्ट, दरबान रांगड, पप्पू सिंह बडियाडी आदि ग्रामीण सहित जलागम विभाग से आए यूनिट अधिकारी आरपी भट्ट व ग्राम प्रभारी सुनील रावत भी मौजूद रहे।
प्रयासों को आगे बढ़ाते हुए पंचायत जलागम के माध्यम से 6 हेक्टेयर में अनार के 22 सौ पेड़ लगाए गए हैं। अनार के पेड़ों को फलता-फूलता देख ग्रामीण उत्साहित है और अब उन्होंने आठ हेक्टेयर में बागवानी करने का बीड़ा उठाया है। अखरोट, आड़ू, खुमानी व पुलम आदि के पौधे लगाने का निर्णय लिया गया। पंचायत मे बना उत्तराखंड का पहला जी वो टैंक बागवानी को बढ़ावा देने में कारगार साबित हो रहा है। ग्राम प्रधान जनक बिष्ट ने बताया कि पंचायत में 6 हेक्टेयर में जो बागवानी हुई है उससे 10 परिवारों का लाभ मिल रहा है, जबकि अब जो 8 हेक्टेयर में बागवानी होनी है, उससे 35 से 40 परिवार लाभान्वित होंगे। उद्यान पंडित कुन्दन सिंह पंवार ने ग्रामीणों के साथ बैठक करने अलावा उन्हें खेतों में ले जाकर बागवानी की बारीकियों से रुबरु कराया।

About madan lakhera

Check Also

निकिता व नागेंद्र ने जीती दौड़

अगलाड़ पर्यटन क्रीड़ा समिति का खेलकूद समारोह थत्यूड़ (टिहरी) मुकेश रावत। अगलाड पर्यटन कीड़ा समिति …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *