Home / Breaking News / किच्छा : आत्महत्या मामले में आया नया मोड़
कोतवाली पुलिस को तहरीर सौंपते फर्म स्वामी आशीष नागपाल।

किच्छा : आत्महत्या मामले में आया नया मोड़

किच्छा। गत दिनों अपने घर में फंदा लगाकर आत्महत्या करने वाले योगेन्द्र के मामले में नया मोड़ आ गया है। फर्म स्वामी ने मृतक योगेन्द्र पर जालसाजी कर लाखों रुपए का गबन करने का आरोप लगाते हुए कोतवाली पुलिस को तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है। नगर के बरेली मार्ग स्थित स्मार्ट वल्र्ड इन्फोकॉम फ्यूचर टैक्नोलॉजी, प्राइवेट लिमि. के स्वामी आशीष नागपाल पुत्र वेद प्रकाश नागपाल ने कहा कि नगर के गैस एजेंसी वार्ड किच्छा निवासी योगेन्द्र कुमार पुत्र चंदन सागर उसकी फर्म में करीब 2 वर्षों से मार्केट से धनराशि एकत्रित करने का कार्य कर रहा था। उन्होंने कहा कि इस बीच योगेन्द्र को अपने परिवार, पिता चंदन सागर व दादी तथा चाचा दर्शन को रुपयों की आवश्यकता पडऩे पर तथा छोटी बहन की शादी के लिए भी पैसों की जरूरत पडऩे पर उनसे काफी धनराशि उधार ले गया था जो कि उसके द्वारा वापस नहीं की गयी। तहरीर में उन्होंने कहा कि कर्मचारी योगेन्द्र कुमार काफी समय से ग्राहकों से धनराशि वसूल किए जाने के बाद भी कार्यालय में जमा नहीं करा रहा था और हिसाब में घपला कर रहा था जिसकी जानकारी होने पर उन्होंने कई बार योगेन्द्र को अपने पिता व परिवार के किसी व्यक्ति के साथ ऑफिस में आकर हिसाब करने को कहा गया, परन्तु वह हिसाब मिलान करने में टालमटोल करता रहा। उन्होंने कहा कि गत 21 नवम्बर को योगेन्द्र ऑफिस द्वारा दी गयी मोटर साइकिल खड़ी कर चला गया और 22 नवम्बर को सुबह फर्म की रसीद बुक व हिसाब किताब करने का वायदा करते हुए घर लौट गया। तहरीर में उन्होंने कहा कि 23 नवम्बर को उन्होंने कई बार फोन कर योगेन्द्र को बुलाने का प्रयास किया परन्तु वह नहीं आया तथा 24 नवम्बर की सुबह उन्हें ज्ञात हुआ कि योगेन्द्र ने अपने घर में फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली है। उन्होंने कहा कि घटना के बाद मृतक का पिता चंदन सागर व चाचा दर्शन सिंह उस पर झूठे आरोप लगाकर कानूनी कार्रवाई करने व बड़ी धनराशि वसूलने के लिए लगातार दबाव बनाने का काम कर रहे हैं। फर्म स्वामी नागपाल ने कहा कि जांच के दौरान यह बात भी पता चली है कि कर्मचारी योगेन्द्र द्वारा फर्जी रसीद बुक छपवाकर मार्केट से लाखों रुपए की अवैध वसूली कर ली गयी है जिसके कुछ साक्ष्य उन्हें मिल गए हैं। उन्होंने चंदन सागर, दर्शन सागर व मृतक की दादी के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की गुहार लगाते हुए फर्जी रसीद की छायाप्रति पुलिस को सौंपकर कार्रवाई की मांग की है।

About saket aggarwal

Check Also

सूर्यधार बांध डिजाइन को आईआईटी कानपुर ने दी स्वीकृति

26 करोड़ की लागत से बनेगा बांध, अगले हफ्ते से कार्य शुरू सीएम कोठियाल डोईवाला। …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *