Home / Breaking News / हल्द्वानी: कूड़ा उठाने वाली कंपनी के खिलाफ पार्षद एकजुट

हल्द्वानी: कूड़ा उठाने वाली कंपनी के खिलाफ पार्षद एकजुट

नगर आयुक्त व स्वास्थ्य अधिकारी से मिले -लगाया मनमानी का आरोप

स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.मनोज कांडपाल व पार्षद।

हल्द्वानी। नगर निगम के अंतर्गत डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन करने वाली कंपनी के खिलाफ पार्षद एकजुट होकर निगम जा धमके। इस दौरान उन्होंने कूड़ा उठाने वाली ए टू जेड कंपनी पर मनमानी का आरोप लगाया। उनका कहना था कि वार्डांे में नियमित रूप से कूड़ा उठाने में कंपनी कर्मचारी लापरवाही करते हैं।
शहर के तमाम वार्डांे के पार्षद बुधवार को नगर निगम जा धमके और नगर आयुक्त चंद्र सिंह मर्ताेलिया से मिले। इस दौरान उनका कहना था कि नगर निगम ने जिस ए टू जेड कंपनी को डोर-टू-डोर से कूड़ा उठाने की जिम्मेदारी सौंपी है वह लापरवाही कर रही है। उन्होंने डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन व्यवस्था को दुरुस्त बनाने की मांग भी उठाई। इस पर नगर आयुक्त ने कार्रवाई का भरोसा दिलाया। नगर आयुक्त से मिलने वालों में पार्षद धीरेंद्र सिंह रावत, राजेंद्र अग्रवाल, नरेंद्रजीत सिंह रोडू, मनोज जोशी, राजेंद्र जीना, रवि जोशी, गुरफान, हेमंत शर्मा, मधुकर श्रोत्रिय, मुकेश बिष्टï, मुन्नी कश्यप, नीमा भट्ट, मनोज गुप्ता,चंद्रशेखर कांडपाल, अमित बिष्टï, नीरज बगडवाल, शाकिर, तौफिक, जिहान परवेज समेत तमाम पार्षद शामिल थे।

 

 
पार्षद से विवाद के बाद वार्डांे से नहीं उठाया कूड़ा
हल्द्वानी। बद्रीपुरा वार्ड-11 में बीते दिन स्थानीय पार्षद व कूड़ा उठाने वाली कंपनी के कर्मचारी के बीच विवाद हो गया था। इस दौरान दोनों के बीच पहले बहस हुई और मामला गरमा गया। इसके विरोध में ए टू जेड कंपनी के कर्मचारियों ने बुधवार को हड़ताल कर दी। उन्होंने वार्डांे से सुबह की पाली में कूड़ा नहीं उठाया। वहीं इसका पता चलने पर तमाम वार्डांे के पार्षद नगर निगम पहुंचे और उन्होंने भीषण गर्मी के मद्देनजर वार्डांे से तत्काल कूड़ा उठाने को लेकर नगर निगम अफसरों से मुलाकात की। इस बीच नगर आयुक्त चंद्र सिंह मर्ताेलिया व नगर स्वास्थ्य अधिकारी मनोज कांडपाल तथा पार्षदों की मौजूदगी में कंपनी कर्मियों के साथ वार्ता हुई। दोनों पक्षों में समझौता होने के बाद निजी कंपनी कर्मचारी कूड़ा उठाने को राजी हो गये। इधर नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. कांडपाल ने बताया कि बीते दिन बद्रीपुरा वार्ड के पार्षद व ए टू जेड कंपनी के कर्मचारी का विवाद हो गया था। इस विवाद को सुलझा लिया गया है।

About saket aggarwal

Check Also

डेंगू : बकरी का दूध बना अमृत

हल्द्वानी। अगर आपके पास बकरी है और वह भी दूध देने वाली तो इन दिनों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *