Home / Breaking News / कुमाऊं-गढ़वाल में 50 हजार टैक्सियां ठप
प्रतीक फोटो

कुमाऊं-गढ़वाल में 50 हजार टैक्सियां ठप

केमू व रोडवेज बसों ने दी राहत, नैनीताल रूट पर रही भीड़

 

हल्द्वानी। नये एमवी एक्ट के खिलाफ कुमाऊं भर में टैक्सियों का संचालन ठप रहा। वहीं पर्वतीय मार्गांे पर केमू बसों का संचालन जारी रहने से आमजन को राहत मिली। रोडवेज बसों ने भी सहारा दिया। वहीं जिन मार्गांे पर बसों का संचालन न के बराबर है, उन क्षेत्रों के लोगों को जरूरी काम कराने में परेशानी का सामना करना पड़ा। कुमाऊं भर में करीब 15 हजार टैक्सी-मैक्सी का संचालन ठप रहा। हल्द्वानी-काठगोदाम से ही करीब दो हजार टैक्सियों के पहिए जाम रहे। वहीं टेंपो व ई-रिक्शा चलते रहे। इधर गढ़वाल में 35 हजार टैक्सियों के पहिए जाम रहे।
नये एमवी एक्ट में भारी भरकम जुर्माना राशि वसूले जाने के खिलाफ परिवहन महासंघ के आह्वïान पर बुधवार को बंदी का ऐलान किया गया था। कुमाऊं भर में इस बंदी का व्यापक असर दिखा। टैक्सियों का संचालन न होने पर पर्वतीय क्षेत्र के यात्रियों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ा। इधर जिले के भीमताल के जंगलिया गांव, बबियाड, हैड़ाखान मार्ग पर यात्रियों की खासी फजीहत हुई।

 

 

 

कंपाउंडिंग फीस का है विरोध

हल्द्वानी। परिवहन महासंघ के महासचिव सत्यदेव उनियाल ने बताया कि प्रदेश भर में कुमाऊं व गढ़वाल में करीब 50 हजार टैक्सी-मैक्सी ठप रहीं। उन्होंने बताया कि एक्ट का विरोध नहीं है बल्कि कंपाउंडिंग फीस को यथावत बनाये रखने की मांग उठाई गई है। वाहन स्वामी पहले से ही आर्थिक परेशानी से जूझ रहे हैं, ऐसे में नया बोझ डालना गलत है। इस मामले में वित्त सचिव से मुलाकात कर ज्ञापन सौंपा गया था। इधर काठगोदाम यूनियन के अध्यक्ष विक्रम अधिकारी ने बताया कि सुबह पांच बजे से टैक्सी संचालन पूरी तरह ठप है। हैड़ाखान रोड की 10 से अधिक टैक्सी खड़ी हैं। काठगोदाम से अल्मोड़ा व रानीखेत रूट पर चलने वाली करीब 300 टैक्सी ठप हैं। अति आवश्यकीय सेवा वाले वाहनों को छूट दी गई है। इधर कुछ वाहन चालकों ने टैक्सी दौड़ाई तो रानीबाग, भीमताल में यूनियन पदाधिकारियों ने वाहन खड़े करवा दिये।

 

 

 

About saket aggarwal

Check Also

हल्द्वानी: पुलिस कर्मियों के सामने ‘बेघर’  होने का संकट

कोतवाली में बैरक खाली करने के फरमान से मची खलबली सलीम खान हल्द्वानी। जहां एक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *