Breaking News
Home / Breaking News / ऐतिहासिक होगा 2021 का कुंभ : मुख्यमंत्री

ऐतिहासिक होगा 2021 का कुंभ : मुख्यमंत्री

संतों के साथ की काफी देर तक मंत्रणा
शहरी विकास मंत्री देखेंगे कुंभ का सारा काम
धर्मनगरी के अनुकूल होगा अबकी कुंभ
हरिद्वार। श्री पंचायती अखाड़ा नया उदासीन निर्वाण में श्री चंद्र भगवान के तीसरे मूर्ति स्थापना दिवस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने संतों से आशीर्वाद लिया और शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक के साथ कुंभ को लेकर अहम बैठक भी की। मुख्यमंत्री ने कहा कि कुंभ की सारी जिम्मेदारी मदन जी को दे दी गयी है। जिलाधिकारी भी कुंभ का कार्य करेंगे। कुंभ को अबकी भव्यता देनी है। श्रद्धालु आये तो उन्हें सब कुछ अच्छा महसूस हो। धर्मनगरी अपने स्वरूप अनुसार दिखे।
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि धर्मनगरी भारत की सनातन परंपरा का केंद्र बिंदु है। इसलिए संतों और साधु-संतों का आशीर्वाद और स्थानीय नागरिकों का सहयोग अपेक्षित है। मुख्यमंत्री ने कहा कि शहरी विकास मंत्री और जिलाधिकारी से सहयोग लेकर 2021 कुंभ को भव्यता प्रदान की जाएगी। उन्होंने शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक के साथ महाकुंभ को लेकर अखाड़ों के महंतों महामंडलेश्वरों से प्रारंभिक दौर की बातचीत की। महाकुंभ अच्छे तरीके से संपन्न हो इसमें संतों का मार्गदर्शन और सहयोग सरकार के स्तर पर मांगा। संतों से उन्होंने कहा कि वे निश्चित रहे 2021 का कुंभ ऐतिहासिक होगा। इस दौरान शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने कहा की सरकार ने महज 10 माह में बेहतरीन कार्य किया है। कहा 10 माह की सरकार बेदाग है। इस अवसर पर मुखिया महंत भगत राम महाराज , महेंद्र धुनि दास, महंत जगतार मुनि ,महंत चंद्रमा दास ,महंत मंगल दास, महंत बलवंत सिंह, महामंडलेश्वर श्यामसुंदर दास शास्त्री, स्वामी ललिता नंद गिरी, महंत श्यामा प्रकाश, महंत विनोद महाराज समेत बड़ी संख्या में संत समाज मौजूद रहा। श्री पंचायती अखाड़ा नया उदासीन निर्वाण के संक्षिप्त कार्यक्रम के बाद मुख्यमंत्री रावत हरिहर आश्रम पहुंचे जहां उन्होंने पारद शिवलिंग पर पूजा अर्चना कर रुद्राक्ष की माला चढ़ाई। जूना पीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानंद गिरी का आशीर्वाद लिया।

About saket aggarwal

Check Also

धरने पर बैठे सहसपुर के बीजेपी विधायक

देहरादून। शीशमबाड़ा प्लांट से उठ रही दुर्गंध से नगर पंचायत सेलाकुईं क्षेत्र समेत कई गांवों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *