Home / Breaking News / वनकर्मी की पुत्री की दिमागी बुखार से मौत
बच्ची की मौत पर बिलखती उसकी मां एवं परिजन।

वनकर्मी की पुत्री की दिमागी बुखार से मौत

एसटीएच में नहीं मिला सही उपचार, शोक में बंद रहा लालकुआं बाजार
लालकुआं। वन विभाग के टांडा रेंज में कार्यरत एवं कार्यशाला परिसर में रहने वाले वनकर्मी की 12 वर्षीय बेटी की दिमागी बुखार के चलते मौत हो गयी। वार्ड नंबर तीन वन विभाग की कार्यशाला में रहने वाले एवं तराई केंद्रीय वन प्रभाग के टांडा रेंज में गेटकीपर के रूप में कार्यरत राजेंद्र प्रसाद पांडे की 12 वर्षीय पुत्री रुचि पांडे होली ट्रिनिटी पब्लिक स्कूल में कक्षा छह की छात्रा थी। रुचि को दिन पूर्व तेज बुखार हुआ जिसे हल्द्वानी के एसटीएच चिकित्सालय में ले जाया गया। रुचि के पिता राजेंद्र प्रसाद पांडे का कहना है कि एसटीएच में सही उपचार ना मिलने पर रुचि को विगत दिवस निजी अस्पताल में लाया गया। मंगलवार को तड़के रुचि ने दम तोड़ दिया। बालिका के परिजनों ने बताया कि संभवत बुखार रुचि के सिर में चढ़ गया था। जिसे वह बर्दाश्त नहीं कर पायी और इलाज ठीक न मिल पाने के परिणाम स्वरूप उसकी मौत हो गयी। बालिका की मौत से जहां परिजनों में कोहराम मच गया वही नगर के तमाम शिक्षण संस्थान भी शोक स्वरूप मंगलवार को बंद रहे। मंगलवार की दोपहर बालिका का नगर के मुक्तिधाम में अंतिम संस्कार किया गया। इस मौके पर नगर पंचायत अध्यक्ष रामबाबू मिश्रा, पूर्व चेयरमैन पवन चौहान, व्यापार मंडल के अध्यक्ष दीवान सिंह बिष्ट, भुवन पांडे, अजय चौधरी, धन सिंह बिष्ट, अरुण प्रकाश बाल्मीकि, नारायण दत्त भट्ट, विपिन सिंह नेगी, दीपू नयाल, योगेश उपाध्याय, प्रेम बल्लभ भट्ट व वन क्षेत्राधिकारी टांडा बीएस मेहता सहित भारी संख्या में क्षेत्रवासी मौजूद थे।
उभरती हुई नृत्यांगना थी रूचि
 लालकुआं। दिमागी बुखार के चलते काल का ग्रास बनी 12 वर्षीय रुचि नगर में स्थित डांस एकेडमी में सबसे अच्छी डांसर थी। जिसकी मौत के बाद उक्त एकेडमी के सभी प्रशिक्षणार्थियों का रो रो कर बुरा हाल है।
दिमागी बुखार के चलते मारी गई 12 वर्षीय रुचि नगर के डी-फाइव डांस एकेडमी की सबसे होनहार छात्रा थी। एकेडमी के डायरेक्टर सरताज अहमद का कहना है कि 4 साल पूर्व जब वह 8 वर्ष की थी तब से डांस एकेडमी की हिस्सा रही, और अब तक वह कुमाऊं गढ़वाल, दिल्ली, हरियाणा, पंजाब और उत्तर प्रदेश के कई चैंपियनशिपों में हिस्सा लेकर कई खिताब अपने नाम कमा चुकी है। जिस में मुख्य रुप से रामनगर में हुए उत्तराखंड गॉड टैलेंट, नैनीताल में आयोजित कुमाऊं टैलेंट हंट, दिल्ली में आयोजित रेग्यूलेशन डांस चैंपियनशिप और इलाहाबाद में आयोजित द राइजिंग स्टार में भी उसने अपनी छाप छोड़ दी थी। सरताज ने कहा कि रुचि की कमी इस एकेडमी को हमेशा ही खलेगी। वह इस एकेडमी की सबसे होनहार छात्रा थी।

About saket aggarwal

Check Also

तीन माह में भी पुलिस के हाथ खाली

किच्छा। 3 माह पूर्व ग्राम छिनकी में पुलिया के नीचे मिले युवक की हत्या का …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *