Home / Breaking News / महिला हिंसा रोकने को चलाया जागरूकता अभियान
घरेलू हिंसा और महिला अपराधों को रोकने को लेकर जागरूकता अभियान चलाते पुलिस कर्मी

महिला हिंसा रोकने को चलाया जागरूकता अभियान

बनबसा। पुलिस विभाग की महिला हेल्पलाइन, निर्भया सेल चम्पावत और बनबसा पुलिस द्वारा महिलाओं के प्रति होने वाले अपराधों और घरेलू हिंसा को रोकने को लेकर बनबसा क्षेत्र में व्यापक जागरूकता अभियान चलाया गया। नगर पालिका सभागार, पूर्णागिरी इंटर कालेज और मैक्सटन स्ट्रांग पब्लिक स्कूल में महिलाओं और छात्राओं के साथ बैठक आयोजित की गई। इस कार्यक्रम में बाल विकास और महिला सशक्तिकरण विभाग द्वारा भी प्रतिभाग किया गया। पूर्णागिरी इंटर कालेज में आयोजित बैठक में बढी संख्या में मौजूद स्थानीय महिलाओं, छात्राओं और क्षेत्र की ऑगनबाड़ी कार्यकत्रियों ने भाग लिया। इस अवसर पर पुलिस विभाग की महिला हैल्पलाइन और निर्भया सेल प्रभारी मिनाक्षी नौटियाल ने महिला अपराधों और घरेलू हिंसा से निपटने के लिए महिलासओं को तमाम जानकारियॉ दी। उन्होंने कहा कि महिला अपराध को दूसरो की समस्या न समझ कर हर महिला को इसे समाज कर और अपनी समस्या समझनी चाहिए। उन्होंने कहा कि महिलाएॅ विपरीत परिस्थितियों में पुलिस विभाग के हैल्पलाइन नम्बरों और किसी परिजन को तुरंत काल करें। उन्होंने कहा यदि कोई व्यक्ति महिला पर हमला करता है तो वह मदद के लिए शोर मचाए ताकि आस पास के लोग मदद के लिए उसके पास आ सकें। थानाध्यक्ष मनीष खत्री ने कहा कि घर से बाहर निकलने पर महिलाओं को परिजनो को समय-समय पर अपनी लोकेंशन देते रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि घरेलू हिंसा और अपराध होने पर महिलाए पुलिस विभाग के हैलपलाइन नम्बरों 1090, 100 और थाने के नम्बर पर तुरन्त फोन करें ताकि त्वरित कार्यवाही की जा सके। उन्होंने कहा कि साइबर क्राईम से बचने के लिए किसी अपरिचित व्यक्ति की फेसबुक में फ्रैन्ड रिक्वेस्ट स्वीकार न करें। एसआई राधिका भंडारी ने कहा कि महिलाएॅ ब्लैकमेलिंग से डरे नही और पुलिस और परिजनो की मदद लें। किसी भी प्रकार का अपराध होने पर उसे न छिपाए और उसके बारे में खुलकर बताए ताकि अपराधी को दंडित किया जा सके। बाल विकास विभाग की सुपरवाईजर मीरा देवी ने बाल विकास और महिला सशक्तिकरण विभाग द्वारा महिलाओं के उत्थान के लिए चलाई जा रही विभागीय योजनाओं की जानकारी दी। हैडकांस्टेबिल गीता कन्याल ने कहा कि बच्चो और महिलाओं की तस्करी अपराध है और महिलाएॅ अपराधियों के चंगुल में न फंसे और किसी अन्जान व्यक्ति के साथ अकेले बाहर न निकलें और किसी प्रकार के लालच में आकर अपना शोषण न होने दें। इस अवसर पर बाल विकास विभाग की सुपरवाईजर प्रभावती, माधवी भट्ट, देशराज, विजय पाल, गायत्री पन्त, किरन, दीपा देवी, कमला देवी, लीला देवी आदि दर्जनों लोग मौजूद थे।

About saket aggarwal

Check Also

हल्द्वानी: पूनम हत्याकांड के खुलासे में एसआईटी भी नाकाम

एक माह बाद भी रहस्य के घेरे में मर्डर मिस्ट्री हल्द्वानी। पूनम हत्याकांड के खुलासे …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *