Home / Breaking News / मंगलौर: असगर के जन्मदिन पर सजी महफिल, शायरों ने कलाम पेश कर खिराज ए अकीदत पेश की
Exif_JPEG_420

मंगलौर: असगर के जन्मदिन पर सजी महफिल, शायरों ने कलाम पेश कर खिराज ए अकीदत पेश की

मंगलौर। नवासा-ए-रसूल हजरत इमाम हुसैन के बेटे जनाबे अली असगर के जन्म दिन के मुबारक अवसर पर शानदार महफिल-ए-मकासदा का आयोजन अजरे रिसालत कमेटी की ओर से किया गया। महफिल में विभिन्न शायरों ने अपने कलाम पेश कर हजरत अली असगर को खिराज ए अकीदत पेश की।
बीती रात स्थानीय मोहल्ला पठानपुरा में बड़े इमाम बाड़े पर नवासा ए रसूल हजरत इमाम हुसैन के सब से छोटे शाहजादे जनाबे अली असगर के जन्मदिन के पावन मौके पर महफिल ए मकासदा का आयोजन किया गया। इस अवसर पर मौलाना मैराज महदी ने अपनी तकरीर में कहा कि करबला में इमाम हुसैन ने बहुत सी कुरबानियां राहे खुदा में पेश की लेकिन हजरत अली असगर की कु रबानी बे मिसाल है। उन्होंने कहा कि जनाबे अली असगर की उम्र करबला में केवल छह माह थी लेकिन जालिमों ने मासूम बच्चे पर भी रहम नहीं किया तथा तीन दिनों के प्यासे बच्चे को गले पर तीर मार कर शहीद कर दिया। उसी मासूम के जन्म दिन पर खिराजे अकीदत पेश करने के लिए जश्न का आयोजन किया जाता है। महफिल का आगाज हम्दो सना के साथ मौलाना अली हैदर कुंमी ने की। महफिल में जिन शायरों ने अपने कलाम पेश किये उनमें वफा आबदी, जौहर मंगलौरी, रौनक जैदी, आदिल आबदी, मौलाना जाबिर कसीम, मीसम मगंलौरी, दानिश जैदी, शाकिर, बिलाल ज्वालापुरी आदि शामिल रहे। इस मौके पर मुख्य अतिथि के रूप में पूर्व राज्यमंत्री सैय्यद अली हैदर जैदी भी मौजूद रहे। कार्यक्रम का संचालन वरिष्ठ शायर हामिद मंगलौरी ने किया। अंत में कार्यक्रम के संयोजक चांद मियां आबदी ने सभी शायरों, महमानों व उलेमा हजरात का शुक्रिया अदा किया।

About saket aggarwal

Check Also

एयरपोर्ट के जंगल से हाथी हाईवे पर आया तो लगा जाम

हाथी के हाईवे क्रास करने की फोटो वायरल जौलीग्रांट/ब्यूरो। एयरपोर्ट के जंगल से निकलकर एक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *