Home / Uttatakhand Districts / Dehradun / मैक्स अस्पताल ने पूरे किए सफलता के छह वर्ष

मैक्स अस्पताल ने पूरे किए सफलता के छह वर्ष

मरीजों को उत्कृष्ट संवाएं देने के प्रयास और गति पकड़ेंगे
डॉक्टर में सेवा भाव भी जरूरी. मुख्यमंत्री
देहरादून। वर्ष 2012 में स्थापित मैक्स अस्पताल देहरादून ने क्षेत्र के मरीजों को टर्शरी स्तर की चिकित्सा सेवाएं उपलब्ध कराते हुए अपने 6 सालों की कामयाब यात्रा पूरी कर ली है।
अस्पताल की छठी सालगिरह के मौके पर विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने किया। इस मौके पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट, मैक्स हेल्थकेयर के एमडी एवं सीईओ रजित मेहता, मेडिकल एडवाइजर डॉ एके सिंह, वाइस प्रेजीडेंट ऑपरेशन्स एवं यूनिट हेड डॉ संदीप सिंह तंवर व मेडिकल सुपीरटेंडेंट डॉ राहुल प्रसाद आदि भी उपस्थित रहे।
मैक्स अस्पताल की पूरी टीम को छठे वार्षिक दिवस की बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि मैक्स अस्पताल देहरादून की वर्तमान एवं भविष्य की आवश्यकताओं को पूरा करने का प्रयास कर रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि डॉक्टरो में डयूटी के साथ यदि सेवा भाव भी जुड़ जाए तो मरीजो को एक नई ताकत मिलती है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार जल्द ही आयुष्मान भारत योजना के तहत राज्य के सौ प्रतिशत परिवारों को बीमा योजना का लाभ देने जा रही है। राज्य में हिमनी, घेस जैसे दूरस्थ गांवो तथा 37 अस्पतालों को टेलीमेडिसन व टेलीरेडियॉलॉजी के माध्यम से देश विदेश के सुपर स्पेशिलिटी अस्पतालों व विशेषज्ञो से जोड़ा गया है। राज्य के दूरस्थ एव दुर्गम क्षेत्रों में पर्याप्त संख्या में डॉक्टरों की तैनाती सुनिश्चित की जा रही हैं। डॉक्टरों को भी दूरस्थ क्षेत्रों में अपनी सेवाऐ देने के लिए तत्पर रहना चाहिए। यह उनकी नैतिक जिम्मेदारी भी है।
मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि पलायन आयोग ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि राज्य के 740 गांवो मे पूरी तरह पलायन हो चुका है। हम अपेक्षा करते है कि इन गावों को पुन: बसाने के लिए औद्योगिक संस्थान, विश्वविद्यालय, अस्पताल व बड़े संस्थान तत्परता से आगे आएंगे।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अन्य वक्ताओं ने कहा कि पिछले छह सालों के दौरान मैक्स अस्पताल ने उच्च गुणवत्ता की चिकित्सा सेवाओं और मरीजों की उत्कृष्ट देखभाल के साथ क्षेत्र के सबसे भरोसेमंद अस्पताल के रूप में प्रतिष्ठा अर्जित कर ली है। अस्पताल उत्तराखंड एवं आस-पास के निवासियों की स्वास्थ्य संबंधी सभी ज़रूरतों को पूरा करता है। अपनी शुरूआत के बाद से मैक्स अस्पताल के डॉक्टर 2 लाख से अधिक मरीजों को अपनी सेवाएं प्रदान कर चुके हैं। अस्पताल के पास 116 विशेषज्ञ डॉक्टरों और 498 से अधिक कर्मचारियों की टीम है, जो न केवल देहरादून बल्कि आस-पास के नगरों जैसे ऋषिकेश, सहारनपुर, रुडक़ी, मुरादाबाद, मुजफ़्फुरनगर हिल (गढ़वाल और कुमाऊँ), हिमाचलप्रदेश और हरियाणा के कुछ क्षेत्रों के मरीज़ों को अपनी सेवाएं प्रदान करता है।
इस मौके पर मैक्स अस्पताल, देहरादून ने कई गतिविधियों का आयोजन किया। डॉ पंकज झलदियाल, (कन्सलटेन्ट एवं इनचार्ज, डिपार्टमेन्ट ऑफ एमरजेन्सी एण्ड ट्रॉमा) ने आपदा प्रबन्धन पर व्याख्यान दिया। डॉ सलोनी गुप्ता के द्वारा साइकोलोजी पर एक कार्यशाला का आयोजन किया गया, को डॉ सिल्की लूथरा ने पैथोलोजी पर भाषण दिया तथा ईईजी और फिजिय़ोथेरी पर व्याख्यान का आयोजन किया गया । कार्यक्रम में अस्पताल की सालाना मैगज़ीन का भी विमोचन किया गया, जिसमें अस्पताल की स्थापना के बाद से सभी उपलब्धियों का विवरण दिया गया है। स्थापना दिवस कार्यक्रमों की श्रृंखला के आखिरी दिन यानि 2 जून 2018 को वरिष्ठ नागरिकों के लिए सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। साथ ही कार्डियोलोजी एवं आर्थोपेडिक सर्जन ओपन सत्रों का आयोजन भी करेंगे तथा बुजुर्ग मरीज़ों को स्वास्थ्य से जुड़ेे विभिन्न मुद्दों के बारे में जानकारी देंगे।

About madan lakhera

Check Also

जौलीग्रांट में 53 वर्षो से हो रहा है रामलीला का आयोजन

23 से रामलीला शुरू, कमेटी ने पूरी की तैयारियां डोईवाला/ब्यूरो। जौलीग्रांट में पिछले 53 वर्षो …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *