Home / Breaking News / नैनीताल:मेरे दरवाजे अधिवक्ताओं के लिए खुले रहेंगे : जस्टिस बिष्ट

नैनीताल:मेरे दरवाजे अधिवक्ताओं के लिए खुले रहेंगे : जस्टिस बिष्ट

नैनीताल। उत्तराखण्ड उच्च न्यायालय के न्यायाधीश न्यायमूर्ति वीके बिष्ट के सिक्किम उच्च न्यायालय में मुख्य न्यायाधीश के रूप में तबादले के बाद बार सभागार में भावभीनी विदाई दी गई। इस मौके पर न्यायमूर्ति बिष्ट ने मौजूद अधिवक्ताओं को मेहनत कर मुकाम पाने के लिये प्रेरित किया है। उन्होंने अपने उद्बोधन में कहा कि मेरे दरवाजे अधिवक्ताओं लिए 24 घंटे खुले रहेंगे।
उच्च न्यायालय के बार सभागार में सैकड़ों अधिवक्ताओं की मौजूदगी में न्यायमूर्ति वीके बिष्ट को भावभीनी विदाई दी गई। इस मौके पर बार के अध्यक्ष ललित बेलवाल ने उनका स्वागत किया। न्यायमूर्ति बिष्ट ने कहा कि मेरे दरवाजे अधिवक्ताओं लिए 24 घंटे खुले हैं। उन्होंने अपना दुख व्यक्त करते हुए कहा कि जब मैं गुस्सा होता हूं। तो काफी समय तक दुखी होता हूं और उसके लिए हाथ जोडक़र माफी मांगता हूं। उन्होंने अधिवक्ताओं को प्रेरित करते हुए कहा कि उन्होंने एक छोटे से गांव में पढ़ा और फिर वह एक सामान्य से अधिवक्ता रहे हैं। उन्होंने जूनियर अधिवक्ताओं को प्रेरणा देते हुए कहा कि अगर मैं वरिष्ठ अधिवक्ता से हाई कोर्ट का जज और फिर मुख्य न्यायाधीश बन सकता हूं तो आप लोग भी ईमानदारी से काम करके यह सब कुछ पा सकते हैं। उन्होंने अधिवक्ताओं को वादी का जल्दी काम कर न्याय दिलाने को कहा है। बार के अध्यक्ष ललित बेलवाल ने भी कहा कि जस्टिस बिष्ट एक नेक इंसान है। वह हमेशा बार सदस्यों के दिल में रहेंगे। नैनीताल बार का यह पहला सदस्य मुख्य न्यायाधीश बना है। वह न्यायमूर्ति के उज्जवल भविष्य की कामना करते हैं। उधर मुख्य न्यायधीश की कोर्ट में फुल कोर्ट रिफरेंस हुआ कार्यवाहक मुख्य न्यायधीश राजीव शर्मा ने उनके उज्जवल भविष्य की कामना की। इस मौके पर न्यायमूर्ति सुधांशु धुलिया, न्यायमूर्ति आलोक सिंह, न्यायमूर्ति लोकपाल सिंह, न्यायमूर्ति मनोज कुमार तिवारी, न्यायमूर्ति शरद कुमार शर्मा, रजिस्ट्रार जनल प्रदीप पंत, महाधिक्वता एसएन बाबुलकर, सीएससी परेश त्रिपाठी, जीएस संधु, पुष्पा जोशी, आरपी नौटियाल, बार अध्यक्ष ललित बेलवाल, आरपी नौटियाल, बीना पांडे, राजेन्द्र डोभाल, सचिव नरेद्र बाली,गीता परिहार, वीवीएस नेगी, राकेश थपलियाल, सुमित बजाज, रविन्द्र बिष्ट, गौरव पांडे, कासिफ जाफरी, पंकज कपिल, विनोद तिवारी, सैय्यद नदीम मून, लोकेन्द्र डोभाल, डीके शर्मा, एमसी पाण्डे, विनोद शर्मा, सीके शर्मा, बीएस रावत, राजेश जोशी, दीप जोशी, डीसीएस रावत, सीएम साह, संजय भट्ट, आलोक मेहरा, विपुल शर्मा सहित अन्य अधिवक्ता मौजूद रहे।

About saket aggarwal

Check Also

अवैध खनन करने वालों को नहीं बख्शेंगे

एडीआरएम गुप्ता ने दिया बयान लालकुआं। अपर मंडल रेल प्रबंधक वीके गुप्ता ने कहा कि …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *