Home / Breaking News / मोबाइल शॉप में सेंध लगाने वाला एक आरोपी दबोचा

मोबाइल शॉप में सेंध लगाने वाला एक आरोपी दबोचा

हल्द्वानी। देर आए दुरुस्त आए वाली कहावत आज कुछ हद तक पुलिस की कार्यप्रणाली पर सटीक बैठ रही है। विगत दिनों फरवरी माह में ठंडी सडक़ स्थित एक मोबाइल की दुकान से लाखों रुपए के मोबाइल पार कर लिए थे। पुलिस तभी से इन चोरों की तलाश में जुटी थी। इसके खुलासे को लेकर कोतवाल केआर पाण्डे के नेतृत्व में दो टीम गठित की गयी थी। आखिरकार एसओजी व पुलिस टीम एक चोर को पकडऩे में कामयाब रही।
इसका खुलासा बहुउद्देशीय भवन सभागार में करते हुए एसएसपी जन्मेजय खण्डूरी ने बताया कि विगत फरवरी माह में ठण्डी सडक़ स्थित भोटिया पड़ाव पुलिस चौकी क्षेेत्र में चोरों द्वारा एचपी इण्टरप्राइजेज की दुकान का ताला तोडक़र लगभग 20 लाख रुपए के मोबाइल चोरी कर लिए गए थे। जिसमें पुलिस को आज एक बड़ी सफलता हाथ लगी है। एसएसपी ने बताया कि अपराधियों की धरपकड़ के लिए दो टीमें गठित की गयी थी। सर्विलांस की मदद से पता लगा कि पूर्व में मोबाइल के शोरूम में चोरी करने वाले चोर की लोकेशन हल्द्वानी में ही मिल रही थी जिसकी पुलिस टीम ने घेराबंदी कर धर दबोचा। पूछताछ में उसने अपना नाम अनवर देवान पुत्र स्व. भिखारी देवान निवासी मोहल्ला वीरता चौक वार्ड 4 थाना घोड़ा सहन पूर्वी चम्पारन बिहार बताया है।
पुलिस द्वारा अभियुक्त की गिरफ्तारी रोडवेज स्टेशन के पास से की गयी है। पूछताछ में इसने बताया कि फरवरी माह में 2018 में ठण्डी सडक़ में हुई चोरी की घटना में उसका हाथ था। आरोपी ने बताया कि उसने अपने गैंग के सदस्यों से अलग कुछ मोबाइल रखे थे। इस घटना के बाद गैंग के सदस्यों ने लखनऊ सीतापुर में भी घटना को अंजाम दिया था। आरोपी के पास से पकड़े गए मोबाइल की कीमत लगभग डेढ़ लाख रुपए है। पुलिस अब फरार चल रहे आरोपियों की तलाश में जुटी है।

कई राज्यों में वांछित हैं गिरोह के सदस्य
इस घटना में समीर उर्फ चेलुवा व बेलवा जो सगे भाई हंै के द्वारा बिहार के घोड़ासहन चेलुवा, बेलवा नाम से गैंग संचालित किया जाता है। पकड़ा गया आरोपी इसी गैंग का सदस्य है। इस गैंग की सबसे बड़ी खासियत है कि गैंग के सदस्य नेट के माध्यम से ऑल इण्डिया में स्थित मोबाइल शॉप की जानकारी लेते हंै और उन स्थानों में अपनी टीम के साथ रेकी करते हैं। रेकी करने के बाद ही गैंग के सदस्य दुकान पर धावा बोलकर वहां चोरी को अंजाम देते हैं। पूछताछ में आरोपी ने यह भी बताया कि शहर से बाहर निकलने के बाद चोरी के मोबाइलों की लिस्ट बनाकर एक व्यक्ति को मालवाहक बनाकर बिहार भेज देते है। इस गैंग के कई लोग वर्तमान में छतीसगढ़, हरियाणा, कोयम्बटूर, पश्चिम बंगाल, दिल्ली, मध्य प्रदेश आदि जेलों में बंद हैं।

एसएसपी ने किया पुलिस टीम को पुरस्कृत
सफलता पाने वाली टीम में एसओजी प्रभारी दिनेश पंत, भोटिया पड़ाव चौकी प्रभारी प्रताप सिंह नगरकोटी, एसआई कुंदन रौतेला, एएसआई सतेन्द्र गंगोला, कांस्टेबल चन्द्रशेखर मल्होत्रा, पुष्कर रौतेला व सर्विलांस इंचार्ज किशन चन्द्र शर्मा आदि थे। एसएसपी ने टीम को 2500 रुपए ईनाम देने की घोषणा की है।

About saket aggarwal

Check Also

हल्द्वानी : करीम नगर महासचिव बने

हल्द्वानी। लोहिया-राजनारायण संघर्ष समिति की बैठक में प्रदेश अध्यक्ष मो.सुलेमान मलिक ने अब्दुल करीम को …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *