Breaking News
Home / Breaking News / मूलभूत सुविधाओं से वंचित भगवानपुर ,खुले में शौच को मजबूर हैं ग्रामीण

मूलभूत सुविधाओं से वंचित भगवानपुर ,खुले में शौच को मजबूर हैं ग्रामीण

भगवानपुर। कस्बा भगवानपुर के साथ शाहपुर, मक्खनपुर, खानपुर गांव को मिलाकर गठित हुई नगर पंचायत भगवानपुर मूलभूत सुविधाओं से वंचित है। नागरिक नगर पंचायत के गठन से क्षेत्र के विकास की आस लगा रहे थे। लेकिन नागरिकों को अपने गांव की याद आने लगी है। हालात ये हैं कि नगर में सार्वजनिक शौचालय तक नहीं है। जिसके चलते यहां स्वच्छ अभियान की खिल्ली उड़ रही है। नगर क्षेत्र में रह रहे बागडी समाज के कईं परिवार आज भी खुले में शौच को मजबूर हैं। स्वयं शौचालय बनाने की हैसियत नहीं है। विधायक के आश्वासन के बावजूद इस समाज के परिवारों को शौचालय तक उपलब्ध नहीं हो सके हैं।

गौरतलब है कि कईं वर्षों पूर्व कांग्रेस सरकार में काबिना मंत्री स्व. सुरेंद्र राकेश के प्रयासों से भगवानपुर को नगर पंचायत का दर्जा दिया गया था। जिससे यहां लोगों में खुशी का माहौल था। लोगों को आस जगी थी कि अब उन्हें शहरी बाशिंदों की तरह मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध होंगी। करीब ढाई वर्ष बीत जाने के बावजूद अब तक यहां मूलभूत सुविधाएं नागरिकों को उपलब्ध नहीं है। सफाई व्यवस्था पूरी तरह चरमराई हुई है। पानी निकासी की ठोस व्यवस्था ना होने के कारण नालियों का गंदा पानी सड़कों पर बहता है। अतिक्रमण के चलते नगर के बाजारों से निकलना दुभर है। नगर पंचायत में जनप्रतिनिधि के तौर पर इस वक्त विधायक ममता राकेश ही हैं। जिनसे नागरिकों की उम्मीदें पूरी नहीं हो रही है। नागरिक मूलभूत सुविधाओं के लिये अपनी जनसमस्याओं को विधायक के पास लेकर पहुंचते हैं, लेकिन कौरे आश्वासन के अलावा उन्हें कुछ हासिल नहीं होता है। सार्वजनिक शौचालय नहीं होने से यहां बरसों से रह रहे बागडी समाज के कईं परिवार खुले में शौच को मजबूर हैं। चुनाव के दौरान जनप्रतिनिधि इनसे शौचालय का वायदा करते हैं, लेकिन बाद में वे पूरा नहीं होता है।

About saket aggarwal

Check Also

रुद्रपुर:विवाहिता नारी निकेतन जाने को तैयार

रुद्रपुर। ससुराल से भाग कर कोतवाली पहुंची विवाहिता ने नारी निकेतन जाने की सहमति जता …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *