Home / Breaking News / मोटाहल्दू: जग्गीबंगर पंचायत सीट में विधायक की प्रतिष्ठा लगी दांव पर

मोटाहल्दू: जग्गीबंगर पंचायत सीट में विधायक की प्रतिष्ठा लगी दांव पर

विक्की पाठक, मोटाहल्दू। लालकुआं विधानसभा की 22 जग्गी बंगर जिला पंचायत सीट में दिन भर चुनावी माहौल नए रंग में बदलता नजर आ रहा है। चुनाव चिन्ह मिलने के बाद स्पष्ट हो चुका है कि त्रिकोणीय मुकाबला होना लगभग तय है जहां एक और इस चुनावी माहौल में दो सगे भाई एक दूसरे के खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं तो इन दोनों के बीच में एक युवा प्रत्याशी भी दमदार ताल ठोक के हुए हैं।
काफी विचार विमर्श के बाद विगत सप्ताह कांग्रेस व भाजपा ने अपने पार्टी समर्थित प्रत्याशियों की घोषणा की थी जिसके बाद से इस मुकाबले में पूरी तरह नया मोड़ आ गया, जब कांग्रेस ने हिमांशु कबडवाल को युवा प्रत्याशी के रूप में चुनावी मैदान में उतारा तो वहीं भाजपा ने भी इंदर सिंह बिष्ट को चुनावी माहौल में दावेदार बना दिया जिसके बाद से इंदर के सगे भाई डॉ. मोहन सिंह बिष्ट ने निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में ताल ठोंकते हुए अपना चुनाव प्रचार शुरू कर दिया था। सभी प्रत्याशियों ने अपने-अपने पक्ष में मतदान करने के लिए डोर टू डोर कन्विंसिंग और सभाओं का इंदौर जारी रखा है।

 
कौन किस पर पड़ेगा भारी
जनता के हाथ मे फैसला

22 जग्गी बंगर जिला पंचायत सीट में चुनाव चिन्ह आवंटित होने के बाद से काफी घमासान मचा हुआ है, इस सीट पर चुनावी समीकरण पूरी तरह फंसे हुए नजर आ रहे हैं किसी भी प्रत्याशी को कम नहीं आंका जा सकता है जहां कांग्रेस समर्थित प्रत्याशी हिमांशु कबडाल युवा मतदाताओं के साथ कांग्रेस पार्टी के दिग्गज नेताओं का साथ है होने का दावा कर रहे हैं तो वही भाजपा प्रत्याशी इंदर सिंह बिष्ट के साथ विधायक नवीन दुम्का की प्रतिष्ठा दांव पर लगी हुई है वह किसी भी हाल में इस चुनाव को जीतने का दावा कर रहे हैं तो वहीं निर्दलीय प्रत्याशी मोहन सिंह बिष्ट भी कहीं पीछे नहीं है मोहन का दावा है कि उन्हें जनता का पूर्ण समर्थन मिला है और वह इस चुनावी रण में विजय होंगे।

 

लालकुआं विधानसभा की सबसे हॉट सीट मानी जाने वाली 22 जग्गी बंगर जिला पंचायत क्षेत्र के मतदाता पूरी तरह असमझस में फंसे हुए हैं, क्योकि यहाँ दो सगे भाई आमने सामने चुनाव लड़ रहे हैं तो मतदाताओं के सामने स्थिति ऐसी आ गई है किसका बुरा बने और किसका भला वोट एक है प्रत्याशी 3 कैसे करें प्रत्याशियों का चयन यह अभी साफ नहीं हो पा रहा है। अब देखना यह होगा कि क्या इस सीट पर जो अभी तक किसी ने सोचा नहीं वह होगा, रोमांच भरे मुकाबले में कौन बाजी मारेगा यह तो वक्त ही बताएगा फिलहाल तीनों प्रत्याशी अपने मजबूत होने का दावा कर रहे हैं।

About saket aggarwal

Check Also

हल्द्वानी: चोरों ने एक दिन में चार बाइकें उड़ाई

  हल्द्वानी। वाहन चोरों ने एक दिन में अलग-अलग स्थानों से चार बाइकों पर हाथ …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *