Home / Breaking News / एमपी में महिला खिलाडिय़ों को मिली 5 रुपये वाली थाली

एमपी में महिला खिलाडिय़ों को मिली 5 रुपये वाली थाली

भोपाल (एजेंसी)। जहां एक तरफ पूरा देश कॉमनवेल्थ गेम्स में 26 गोल्ड मेडल मिलने पर गर्व महसूस कर रहा है। लेकिन खिलाडिय़ों को यहां तक पहुंचने में कितना संघर्ष करना पड़ता है हमारे देश में ये हकीकत भी किसी से छिपी नहीं है। हम अपने खिलाडिय़ों से हर प्रतियोगिता में सोने की उम्मीद तो करते हैं लेकिन सुविधाएं देने के नाम पर सरकारी तिजोरी खुलती नहीं है। ऐसी ही एक तस्वीर मध्यप्रदेश के दमोह से आई है, जहां राज्य की हॉकी टीम में चयन के लिए ट्रायल देने आई खिलाडिय़ों को 5 रुपये की थाली से पेट भरना पड़ा। मध्यप्रदेश के दमोह के जेपीबी गर्ल्स स्कूल के मैदान में 42 बच्चियां हॉकी के लिए ट्रॉयल देने आई थीं। इनमें से 18 राष्ट्रीय खेलों में मध्यप्रदेश की हॉकी टीम की नुमाइंदगी करेंगी।
इन खिलाडिय़ों के रहने के लिये गर्ल्स स्कूल के हॉस्टल में इंतजाम किया गया था लेकिन खाने के लिये इनके कोच को गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले लोगों के लिये दीनदयाल रसोई से 5 रुपये वाली थाली की पर्ची कटवानी पड़ी। इतना ही नहीं प्रबंधकों ने शिष्टाचार का भी ख्याल नहीं रखा और इन खिलाडिय़ों के लिए पीने का पानी का एक टैंकर मैदान में रखवा दिया। इन खिलाडिय़ों का कोच भी ऐसी व्यवस्था के आगे मजबूर था क्योंकि ट्रायल में खिलाडिय़ों के भोजन का कोई बजट नहीं होता है। ये बात सुनकर आप भी हैरान रह गए होंगे। मिली जानकारी के मुताबिक दस साल पहले राज्य सरकार ने ट्रायल में खिलाडिय़ों के खाने-पीने के लिये बजट का प्रावधान बंद कर दिया था। राज्य की बीजेपी सरकार को लगता है कि 5 रुपये की थाली में गुणवत्ता की कमी नहीं होती, तो वहीं कांग्रेस इसे खिलाडिय़ों का अपमान मानती है।

About saket aggarwal

Check Also

तराई-भाबर में निजी बसों का संचालन पूरी तरह ठप

केमू की हड़ताल का तीसरा दिन, समर्थन में आये कुमाऊं भर के निजी बस संचालक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *